सोलन शहर में 18 घंटे ब्लैक आउट

कार्यालय संवाददाता, सोलन

शहर में बुधवार शाम छह बजे से बाधित हुई विद्युत आपूर्ति से कामकाज बुरी तरह से प्रभावित हो गया। सरकारी और निजी क्षेत्र के कम्प्यूटर बंद पड़े रहे। कई एटीएम और मोबाइल टावरों ने भी काम करना बंद कर दिया। उपायुक्त कार्यालय से जिला में भारी बारिश से हुए नुकसान की रिपोर्ट भी फोन पर ही सरकार तक पहुंचाई गई। करीब 18 घंटों बाद गुरुवार को सायं तीन बजे शहर की विद्युत आपूर्ति बहाल हो सकी। बुधवार की सायं करीब छह बजे पूरे शहर में अचानक ब्लैक आउट हो गया था। लोग बिजली आने का काफी देर तक इंतजार करते रहे, लेकिन जब पूछताछ की गई, तो मालूम हुआ कि सैन्य क्षेत्र में दो भारी-भरकम चीड़ के पेड़ शहर के अधिकांश क्षेत्र को होने वाली विद्युत आपूर्ति के फीडर नंबर एक व तीन की मुख्य लाइन पर गिर गए हैं। विद्युत बोर्ड के अधिकारियों ने अपने कर्मचारियों को भारी बारिश में ही तुरंत मौके पर पहुंचने के आदेश दिए। वाहन के इंतजार में करीब एक घंटा गुजर गया। जैसे-तैसे कर्मचारी मौके पर पहुंचे, तो पेड़ों से हुए नुकसान को देख कर स्तब्ध रह गए। भारी पेड़ों से तारों को तो नुकसान पहुंचा ही था, साथ ही बिजली के बड़े-बड़े खंभे भी झुक गए थे। ऐसी हालत में अंधेरी रात और भारी बारिश के बीच शहर की विद्युत आपूर्ति को बहाल करना असंभव था। हजारों शहरवासियों को पूरी रात अंधेरे में ही गुजारनी पड़ी। दिन में बिजली न होने के कारण कई बैंकों के एटीएम व मोबाइल के टावरों ने काम करना बंद कर दिया था। विद्युत विभाग के अधिशाषी अभियंता मनोज उप्रेती ने बताया कि विभाग के कर्मचारी गुरुवार तड़के पांच बजे से ही मरम्मत कार्य में जुट गए थे। शहर की विद्युत आपूर्ति को गुरुवार सायं तीन बजे बहाल कर दिया गया।

You might also like