कोकसर में फंसी कुल्लू की बारात

स्टाफ रिपोर्टर, कुल्लू

इस बार सर्दियों के साथ-साथ बर्फबारी की दस्तक भी एडवांस में होने के कारण कई व्यवस्थाएं ठप पड़ गई हैं। बर्फबारी के कारण ही कुल्लू से लाहुल के गौशाल को रवाना हुई बारातियों से भरी बस तीन दिन से वापस नहीं पहुंची है।

कुल्लू डिपो की बस बारात को लेकर रायसन से 22 अक्तूबर को रवाना हुई थी। इसी बीच मौसम ने करवट बदलते ही बर्फबारी शुरू कर दी और उक्त बारात पिछले तीन दिन से कोकसर में ही बारातियों सहित फंस गई। बर्फबारी के कारण केलांग डिपो की छह बसें जो मढ़ी में फंसी थीं। हालांकि वे तो 23 अक्तूबर की रात को कुल्लू पहुंच गईं हैं, लेकिन उदयपुर-किलाड़ मार्ग बंद होने से केलांग डिपो की एक बस पुरुथी में तथा एक बस और एक जीप तिंदी में फंसी हुई है।

उदयपुर-किलाड़ मार्ग पर अभी तक भी आपरेशन शुरू नहीं हो पाया है। हालांकि केलांग और कुल्लू के बीच बस सुविधा 25 अक्तूबर तक शुरू होने की उम्मीद है। इसके अलावा चंबा डिपो की बस जो कि कैश लेकर आई थी। वापस चंबा नहीं जा सकी है और केलांग में ही फंसी हुई है। उदयपुर-किलाड़ मार्ग खुलने के बाद ही उक्त बस वापस चंबा जा पाएगी। उधर, सूत्रों के अनुसार इस बार बर्फबारी की समय से पहले ही होने की आशंका को देखते हुए प्रशासन ने 31 अक्तूबर को ही कोकसर का पुल उखाड़ने का फैसला ले लिया है, ताकि यातायात को बंद कर दिया जाएगा।

हालांकि उक्त पुल 15 नवंबर को ही हटाया जाता था। इस बार बर्फबारी समय से पहले होने की संभावना को देखते  हुए ही इस तरह का फैसला लिया जा रहा है। उधर, परिवहन निगम केलांग डिपो को अपनी बसें 31 अक्तूबर से पहले ही कुल्लू के लिए शिफ्ट करनी पड़ेंगी। इसके लिए निगम प्रबंधन ने भी अपनी तरफ से तैयारियां करनी शुरू कर दी हैं।

You might also like