गेयटी में 200 ने निहारी प्रदर्शनी

शिमला भाषा एवं संस्कृति विभाग के सौजन्य से गेयटी में चल रही चित्र प्रदर्शनी के सातवें दिन लोगों ने भारी संख्या में प्रदर्शनी में लगे छाया चित्रों को देखा। स्कूलों में अवकाश के चलते छात्रों ने भी प्रदर्शनी में लगे चित्रों को देखने में रुचि दिखाई। अप्रैल, 1905 में कांगड़ा  में आए भूकंप पर आधारित इस छायाचित्र प्रदर्शनी में 200 के करीब लोगों ने प्रदर्शनी निहारी। स्कूलों के छात्रों का कहना है कि प्रदर्शनी में लगे छाया चित्र भूकंप से हुए नुकसान को प्रदर्शित करते हैं। इस तरह की प्रदर्शनी से प्रदेश के इतिहास के विषय में जानकारी हासिल होती है। लालपानी स्कूल के रोहित का कहना है कि इन छाया चित्रों से भूकंप द्वारा हुई हानि की जानकारी मिलती है।

You might also like