चुनौतियों पर मंथन को शिमला तैयार

सिटी रिपोर्टर, शिमला

राजधानी शिमला में 24 अक्तूबर से देश भर के नगर निगम के मेयर इकट्ठा होकर समस्याओं व चुनौतियों पर मंथन करेंगे। आल इंडिया मेयर काउंसिल की 99वीं बैठक 24-25 अक्तूबर को शिमला में आयोजित होने जा रही है। बैठक में होने वाली चर्चा व उसके निष्कर्ष को केंद्र सरकार के शहरी मंत्रालय को सौंपा जाएगा। बैठक में भाग लेने आने वाले मेयर अपने यहां किए गए बेहतर कार्यो के बारे में भी बताएंगे। बैठक का शुभारंभ मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल करेंगे। इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री महेंद्र सिंह भी उपस्थित रहेंगे। यह पहला मौका है, जब शिमला में मेयर काउंसिल की बैठक आयोजित होने जा रही है। नगर निगम शिमला की महापौर मधु सूद ने पत्रकारवार्ता के दौरान यह जानकारी देते हुए बताया कि 38 मेयर इस काउंसिल की सदस्य हैं। बैठक में 21 मेयर का आना तय हो गया है। यह सम्मेलन दो दिन तक चलेगा। उन्होंने बताया कि बैठक में  74वें नगर निकाय अधिनियम जिसे लागू किया जा चुका है, पर चर्चा होगी। इस एक्ट में महापौर की शक्तियों व उनके अधिकारों का उल्लेख किया गया है। इस अधिनियम को कुछ राज्यों में लागू किया जा चुका है, जबकि कुछ में अभी इसे लागू किया जाना बाकी है। बैठक में अन्य राज्यों के नगर निगमों में जो कार्य किए जा रहे हैं, उन पर भी चर्चा होगी। सभी राज्यों के नगर निगम अपने यहां की बेहतरीन कार्यों के बारे में व्याख्यान देंगे। बैठक में सोलड वेस्ट मैनेजमेंट, शहरी क्षेत्रों में निर्धन लोगों को बसाने जैसे मुख्य मुद्दों पर चर्चा होगी। महापौर मधू सूद ने बताया कि बैठक में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री उमाशंकर भी भाग लेंगे। वह इस कमेटी के राष्ट्रीय कार्यकारी सचिव भी हैं, इससे पहले वह पूर्व महापौर भी रह चुके हैं। महापौर ने बताया कि मीटिंग के लिए जो खर्चा होगा, उसका भार नगर निगम पर नहीं डाला जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए अलग से फंड एकत्र किया गया है। उन्होंने बताया कि यहां आने वाले मेहमानों में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ही राज्य अतिथि होंगे। बाकी अन्य के रहने का इंतजाम अलग-अलग होटलों में किया गया है।

You might also like