प्रधानों की प्रतिष्ठा से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं

स्टाफ रिपोर्टर, बिलासपुर

हिमाचल किसान मंच ने कहा कि पंचायत प्रधानों की प्रतिष्ठा को दागदार बनाने के षड्यंत्र को किसी भी सूरत में सहन नहीं किया जाएगा। मंच ने चेतावनी देते हुए कहा कि ऐसे आरोपों के गिरफ्त में फंसाए गए सभी निलंबित किए प्रधानों को शीघ्र बाइज्जत बहाल किया जाएगा, ताकि समाज में उनकी प्रतिष्ठा की पुनः बहाली हो सके, अन्यथा किसान मंच अपनी आपात बैठक बुलाकर खंड विकास कार्यालय घुमारवीं के घेराव का प्रस्ताव लाकर कार्रवाई को अंजाम देगा।

इस कार्रवाई में मंच द्वारा सभी संगठनों का सहयोग लिया जाएगा। हिमाचल किसान मंच के प्रवक्ता केश पठानिया ने हैरानी जताते हुए कहा कि बदले की भावना को लेकर इस स्तर तक कार्रवाई करेंगे, विश्वास ही नहीं होता है। उन्होंने कहा कि अगर कोई प्रधान सरकार की अनदेखी को सड़कों अथवा समाचार पत्रों में उजागर करे या राजनेता की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगाता है, तो राजनेता आत्म निरीक्षण करने के उल्टा, प्रधान की नकेल कसने के लिए एक षड्यंत्र के तहत ग्रामीण विकास विभाग द्वारा विकास कार्यों के जारी धनराशि में अप-व्यय अथवा निर्माण कार्यों के तकनीकी कमी निकाल कर अधिकारियों के माध्यम से पंचायत प्रधानों को निलंबन के आदेश थमा दिए जाते हैं। ऐसे मामलों में अधिकारियों को अत्यधिक संयम का परिचय देकर कुशल प्रशासनिक दायित्व निभाना चाहिए।

You might also like