फर्जी मार्क्सशीट पर एनएसयूआई तल्ख

सिटी रिपोर्टर, शिमला

प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड व विश्वविद्यालय में फर्जी सर्टिफिकेट मामले पर एनएसयूआई भी मुखर हो गई है। एनएसयूआई के नव नियुक्त उपाध्यक्ष धीरज शर्मा ने पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि फर्जी डिग्रियां व सर्टिफिकेट के खेल को लेकर एनएसयूआई सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलेगी। इसको लेकर जल्द ही राज्य स्तरीय बैठक आयोजित की जाएगी। बैठक में इस आंदोलन पर रणनीति तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस तरह के फर्जी मार्क्सशीट का जो धंधा प्रदेश में चलाया जा रहा है उससे शिक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान लग गया है।

प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि वह शिक्षा के निजीकरण को बढ़ावा दे रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में धड़ाधड़ खोले जा रहे निजी विवि से शिक्षा बाजार की वस्तु बन गई है। शिक्षण संस्थानों के माध्यम से उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश सरकार एक तरफ तो गुणात्मक शिक्षा का प्रचार कर रही है, लेकिन दूसरी तरफ फर्जीबाड़े व इन शिक्षण संस्थानों में छात्रों का जो शोषण हो रहा है, उसके लिए कौन जिम्मेदार है। श्री शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश में निजी शिक्षण संस्थानों के खुलने से शिक्षा का स्तर गिरता चला जा रहा है।

उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर संगठन प्रदेश के अन्य छात्र संगठनों को भी सहयोग करने को तैयार है। उन्होंने कहा कि विवि में भी एनएसयूआई अपने को मजबूत करेगी। श्री शर्मा ने नई कार्यकारिणी के चुनावों के लिए राहुल गांधी का आभार जताया। धीरज शर्मा ने कहा कि यह राहुल गांधी की सोच से ही संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि उनके जैसे कार्यकर्ता संगठन के शीर्ष पदों पर पहुंच रहे हैं। श्री शर्मा ने विपक्ष की नेता विद्या स्टोक्स तथा विधायक जीएस बाली व सुखविंदर सुक्खू, प्रदेश युवा कांग्रेस के महासचिव मनीष ठाकुर का भी आभार जताया। इस मौके पर एनएसयूआई के महासचिव होतम राम, एनएसयूआईर् के कांगड़ा जिला के प्रभारी अंशुल शर्मा, एनएसयूआईर् के कांगड़ा कालेज के अध्यक्ष अमन शर्मा, हमीरपुर कालेज के अध्यक्ष सौरव कटोच सहित अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

You might also like