वेल्डर जम्मू में, लीक हो रहा पानी

नगर संवाददाता, शिमला

शहर में ढली के समीप पानी की सबसे लीकेज रोकने का काम चार दिन के लिए और लटक गया है। लीकेज को रोकने के लिए विभाग ने ढली के पास जो नई पाइपलाइन बिछाई है, उसे पुरानी पाइपलाइन के साथ जोड़ने के लिए वेल्डिंग नहीं हो पा रही है, जिस वजह से कार्य चार दिन और आगे के लिए सरक गया है। बताया जा रहा है कि जिसने वेल्डिंग करनी है, वह जम्मू में है तथा उसे आने में वक्त लगेगा। वेल्डिंग को लेकर विभाग के विशेषज्ञ से काम लेना है, जिस वजह से यह काम पिछले डेढ़ महीने से लटका हुआ है। मिली जानकारी के मुताबिक दो किलोमीटर तक पाइप बिछाने का काम विभाग डेढ़ महीने पहले भी कर चुका था, जिसके बाद नई पाइपलाइन को कनेक्शन देना बाकी था। बरसात के कारण काम में देरी पड़ गई। अब जबकि सब ठीक है, तो वेल्डिंग के काम ने निगम की मुश्किलें बढ़ाई हुई हैं। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि किसी दूसरे वेल्डर्स से वह यह काम नहीं ले सकते, क्योंकि उन्होंने जो व्यक्ति नियुक्त किया है, वह इस काम को लेकर निपुण है तथा काम होने के बाद वह इसकी टेस्टिंग भी देगा। जब तक नई पाइप की वेल्डिंग नहीं की जाती, तब तक तीन एमएलडी पानी की बर्बादी निगम पर भारी पड़ रही है। पानी तो बर्बाद हो ही रहा है, साथ ही इससे निगम का बिल भी बढ़ रहा है। लीकेज रोकने के लिए निगम ने करीब तीस लाख रुपए दिए हैं, ताकि काम में तेजी आए। दो साल से भी अधिक का समय गुजर गया, निगम लीकेज को रोकने का बेसब्री से इंतजार कर रहा है और मामला है कि काम पूरा होने के बाद भी वेल्डिंग पर अटक गया है। गुम्मा परियोजना की लीकेज को रोकने का काम देख रहे अधिशाषी अभियंता एलआर भारद्वाज ने बताया कि लीकेज रोकने का काम पूरा हो चुका है। वेल्डिंग करना शेष रह गया है, जिसे तीन-चार दिन के भीतर कर दिया जाएगा।

You might also like