जरूरी है स्कूल शिक्षा बोर्ड की व्यवस्था सुधारना

By: Nov 23rd, 2010 8:12 pm

– गुरुदत्त शर्मा, लेखक, हिमाचल शिक्षक महासंघ के प्रदेश महामंत्री हैं

स्कूल शिक्षा बोर्ड की आंतरिक व्यवस्था सुधारने के लिए उसकी कार्यप्रणाली पर आमूल चूल परिवर्तन करना पड़ेगा और उसके लिए जरूरत पड़ेगी इच्छा शक्ति की जो सरकार ने फर्जीबाड़े की जांच बिठा कर पूरी कर दी है…

 

बिना परीक्षा दिए प्रमाण पत्र हासिल करने की घटना ने स्कूल शिक्षा बोर्ड की कार्यप्रणाली पर एक बड़ा प्रश्नचिन्ह ही नहीं लगाया है, बल्कि हिमाचल प्रदेश का शिक्षा जगत हैरान है कि शिक्षा बोर्ड के नाक तले वर्षों से यह फर्जीबाड़ा चल रहा है। इससे केवल हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड की छवि को धब्बा लगा, बल्कि प्रदेश की पूरी परीक्षा प्रणाली ही संदेह के घेरे में आ गई। अब अहम प्रश्न उठता है कि क्या बिना हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड के सहयोग या मेहरबानी से इतना बड़ा फर्जीबाड़ा पिछले तीन वर्षों से होना संभव था, शायद कदापि नहीं। हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड प्रबंधन से प्रदेश का शिक्षा जगत व जागरूक नागरिक निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर चाहते हैं।

1. स्कूल शिक्षा बोर्ड की आंसरशीट कैसे उक्त अकादमी के पास पहुंची। 2. उक्त अकादमी को कैसे पता चल जाता था कि किस स्कूल के पेपर कहां जांचे जा रहे हैं, जबकि इसका पता केवल बोर्ड की सीक्रेसी ब्रांच के एक-दो अधिकारियों को होता है।

3. परीक्षा केंद्र से उपस्थित तथा गैर उपस्थित छात्रों का ब्यौरा स्कूल शिक्षा बोर्ड को भेजा जाता है, क्या परीक्षा परिणाम निकालने से पहले उसका मिलान नहीं किया गया।

4. एक परीक्षा केंद्र से एक पार्सल भेजा जाता है, जबकि उक्त अकादमी वाले दूसरे दिन आंसरशीट का बंडल भेजते थे। क्या बोर्ड के अधिकारी-कर्मचारियों को शक की सुई दो पार्सल के कारण नहीं हो पाई।

5. परीक्षा भवन से विद्यार्थियों की उपस्थिति व गैर हाजरी का मेमो आंसरशीट के साथ भी भेजा जाता है और उसी के आधार पर बोर्ड संबंधित मूल्यांकन केंद्रों में तैनात शिक्षा बोर्ड के कर्मचारी अध्यापकों को चैकिंग के लिए पेपर जारी करते हैं, कैसे परीक्षा केंद्र में अनुपस्थित छात्रों की रिपोर्ट को नजरअंदाज किया गया। इतनी खामियों को हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड की लापरवाही तो नहीं कहा जा सकता।

इतने वर्षों से फर्जीबाड़ा चल रहा है, इतने व्यापक पैमाने पर चल रहा हो और इसकी खबर या मानक स्कूल शिक्षा बोर्ड प्रबंधन को न हो यह कुछ समझ से परे है। क्या हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड ने या मीडिया में छपे विज्ञापनों को अकादमी के पास लिखे शब्दों पर ध्यान दिया। आठवीं फेल दसवीं पास करें, दसवीं फेल शर्तिया पास, दसवीं पास सीधी जमा दो पास करें। पास होने की गारंटी। निजी छात्रों को परीक्षा केंद्र अलाट करने की प्रक्रिया जांच समिति के आगे शिकायतों का ढेर (26 सितंबर, 2010) के ‘दिव्य हिमाचल’ में यह खबर छपी है, का निष्कर्ष है जांच समिति को सैकड़ों सनसनीखेज शिकायतें मिली हैं, जिसके तहत बोर्ड कर्मचारियों के बच्चों की मैरिट, छात्रों के अंक बढ़ाना घटाना और पुनर्मूल्यांकन में छात्रों को लाभ देने जैसे मामले सामने आए हैं।

हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड की इमेज पिछले कुछ वर्षों से निरंतर गिरती जा रही है। बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष पर पहले ही प्रमाणपत्र बनाने की धांधली के आरोप लग चुके हैं और कुछ दिनों तक वह हवालात की हवा भी खा चुके हैं और अब बिना परीक्षा दिए दौ सौ से अधिक विद्यार्थियों का पास होना हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड की कार्य प्रणाली पर बहुत बड़ा प्रश्न चिन्ह खड़ा करती है। हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा छापी जा रही सरकारी स्कूलों के लिए पुस्तकों की त्रुटियां, उसका निम्नस्तर का कागज व उसकी घटिया छपाई से तो पूरे प्रदेश के शिक्षक, अभिभावक व जनता वाकिफ है और अब हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड का प्रबंधन यह कहता है कि फर्जीबाड़ा बोर्ड के साथ हुआ है, बात गले से नीचे नहीं उतरती है।

हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड का प्रशासन बदलता है, मगर व्यवस्था ज्यों की त्यों रहती है। आज अहम प्रश्न है कि हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड की छवि को कैसे सुधारा जाए। इसके लिए जरूरी है कि इस फर्जीबाड़े की तह तक पहुंचा जाए। किसी भी दोषी अधिकारी-कर्मचारी को बख्शा न जाए और भविष्य में परीक्षा प्रणाली में आ रही खामियों में पूर्ण सुधार किया जाए। जब तक व्यवस्था में सुधार न किया जाए, ऐसा लगता नहीं है कि कमियां दूर होंगी। स्कूल शिक्षा बोर्ड की आंतरिक व्यवस्था सुधारने के लिए उसकी कार्यप्रणाली पर आमूल चूल परिवर्तन करना पड़ेगा और उसके लिए जरूरत पड़ेगी इच्छा शक्ति की।

Himachal List

Free Classified Advertisements

Property

Land
Buy Land | Sell Land

House | Apartment
Buy / Rent | Sell / Rent

Shop | Office | Factory
Buy / Rent | Sell / Rent

Vehicles

Car | SUV
Buy | Sell

Truck | Bus
Buy | Sell

Two Wheeler
Buy | Sell

Polls

क्या हिमाचल प्रदेश का बजट क्रांतिकारी है?

View Results

Loading ... Loading ...

Miss Himachal Himachal ki Awaz Dance Himachal Dance Mr. Himachal Epaper Mrs. Himachal Competition Review Astha Divya Himachal TV