वाहनों पर वैट से कमाई

हिमाचल में वाहन बाजार का आकार आबकारी एवं कराधान विभाग को मिलने वाले सालाना वैट की दर से भी आंका जा सकता है। वर्ष 2008-09 में पेट्रोल पर वैट से हुई कमाई रुपए 1063929434 थी, जबकि यही दर वर्ष 2009-10 में बढ़कर रुपए 1138593245 पहुंच गई। हिमाचल देश के उन महानगरों की तुलना में भी आगे बढ़ रहा है, जहां लग्जरी वाहन तेजी से खरीद किए जा रहे हैं। एक सर्वेक्षण के मुताबिक प्रदेश में मर्सिडिज बेंज, वॉल्वो, टोयोटा, फोर्ड, मारूति सुजूकी, हुंडई, महिन्द्रा, टाटा, आइशर, अशोक लीलेेंड, हीरो होंडा समेत कई अन्य वाहन कंपनियों की लग्जरी कारें, जीपें व दुपहिया वाहन हिमाचल के 56 शहरों में आवाजाही करते देखे जा सकते हैं। इस बाजार की तेजी का ही नतीजा है कि प्रदेश में हीरो होंडा ऑटोमोबाइल कारखाना स्थापित करने के लिए रजामंद हो चुका है।

You might also like