कैदियों को चरस-मोबाइल की सप्लाई

धर्मशाला — विवादों से घिरी धर्मशाला जेल में गुरुवार सायं शरारती तत्त्वों ने सेंधमारी कर इसमें कैद बंदियों को चरस तथा मोबाइल पहंुचाने का प्रयास किया। सड़क किनारे से जेल के भीतर मादक द्रव्य पदार्थों की खेप तथा मोबाइल फेंकते हुए तीन युवकों को मौके पर दबोच लिया गया। सदर थाना धर्मशाला में  तीनों के खिलाफ प्रिजनर एक्ट की धारा 41, 42 और एनडीपीसी एक्ट के तहत आपराधिक मामला दर्ज कर लिया है। गिरफ्तार किए गए तीनों युवक कांगड़ा जिला के हैं।  तिलकराज निवासी बीरता मंगलवार सुबह एक बंदी से मिलने जेल आया था। बताया जाता है कि इस मुलाकात में बंदी ने चरस तथा मोबाइल फोन की मांग की। लिहाजा सुनियोजित ढंग से कांगड़ा से वैन (एचपी-01बी-0493) को लेकर तिलक राज दोबारा धर्मशाला पहंुच गया। वाहन चालक सुभाष कुमार निवासी नटेहड़ के अलावा उनके साथ तीसरा युवक उज्जैन गांव का पुनीत कुमार उर्फ पिंटू भी शामिल था। करीब शाम पांच बजे उक्त तीनों वैन में सवार होकर जेल की परिक्रमा करने लगे। थोड़ा अंधेरा होने और मौके का फायदा उठाकर इन्होंने वैन जेल किनारे सड़क पर खड़ी कर दी। तिलक राज उर्फ तिल्लू ने चरस तथा मोबाइल निकाल कर इसे जेल के भीतर फेंकने का प्रयास किया। इसी दौरान जेल पुलिस ने तीनों को वाहन सहित मौके पर दबोच लिया। बताया जाता है कि आधे घंटे तक इन तीनों युवकों की संदिग्ध गतिविधियों पर जेल प्रशासन की टेढ़ी नजर पड़ गई थी। लिहाजा चरस की खेप तथा मोबाइल फोन फेंकते हुए इन्हें रंगे हाथों पकड़ा गया। जिला अधीक्षक एससी शर्मा ने इसकी सूचना सदर थाना धर्मशाला को दी। लिहाजा सब- इंस्पेक्टर मुकेश कुमार की अगवाई में मौके पर पहंुचे पुलिस दल ने तीनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया।

You might also like