टाटा की नैनो से उतरी जनता

नई दिल्ली रतन टाटा का ड्रीम आम जनता के भरोसे पर खरा नहीं उतर पाया है। कारों की दुनिया में कभी धमाका करने वाली नैनो अंधेरे में गुम होती दिख रही है। नैनो की बिक्री में नवंबर में करीब 85 फीसदी की गिरावट आई है। कंपनी ने साल 2010 में जहां जुलाई में करीब नौ हजार नैनों बेची थीं, वहीं अक्तूबर में इसकी सेल घटकर तीन हजार पर पहुंच गई। इतना ही नहीं नवंबर महीने में नैनों की बिक्री सिर्फ 509 रह गई। कार के निर्माताओं का दावा है कि सब कुछ ठीक-ठीक है। टाटा मोटर्स का दावा है कि नैनो के 80 प्रतिशत उपभोक्ता कार से संतुष्ट हैं। नैनो की आपूर्ति जुलाई, 2009 में शुरू हुई थी और अभी तक 71000 कारों की आपूर्ति की जा चुकी है। नैनो 12 राज्यों में उपलब्ध है और मार्च 2011 तक इसे पूरे देश में उपलब्ध करा दिया जाएगा।

You might also like