पाक ने धर्मशाला पहुंचाए हथियार

धर्मशाला — हिजबुल मुजाहिदीन के गिरफ्तार आंतकियों से बरामद हथियार पाकिस्तान से लाए गए हैं। पाकिस्तान जेहाद की खातिर हिजबुल घाटी के गरीब तथा मासूम युवकों को अपने संगठन में जोड़कर इन्हें कड़ा प्रशिक्षण दे रहा है। गिरफ्तार आंतकी जमील अहमद बानी तथा गुलाम नबी ने पुलिस रिमांड में माना है कि उन्हें असलह की खेप पड़ोसी मुल्क से भेजी जाती है। जमील अहमद से पकड़ी गई चीनी पिस्टल भी पाक द्वारा प्रायोजित थी। पुलिस रिमांड पर चल रहे दोनों आंतकियों से मंगलवार को आईजी नार्दर्न रेंज पीएल ठाकुर ने भी पूछताछ की। इससे पहले एसपी कांगड़ा दिलजीत ठाकुर जवाली पुलिस थाना जाकर इन दोनों से इंटेरोगेशन कर चुके हैं। इस पूरे आपरेशन को चलाने वाले एडिशनल एसपी संजीव गांधी ने आंतकियों को मौके पर ले जाकर निशानदेही के आधार पर इनसे असलह तथा मामले से जुड़ी दूसरी  रिकवरी करवाई है। सूत्रों का कहना है कि हिजबुल के जिला कमांडर जमील अहमद से चीनी कंपनी की पिस्टल बरामद होने से सुरक्षा एजेंसियां के कान खड़े हो गए थे और उसी दौरान यह कयास लगाए जाने लगे थे कि इनके पास और हथियार भी मिल सकते हैं। इस आधार पर चंबा तथा डोडा के सीमांत क्षेत्रों की बीहड़ों में मौके पर पहंुची कांगड़ा पुलिस को जमील अहमद के ठिकानों से भारी मात्रा में असलह मिला है। अधिकतर हथियार व विस्फोटक सामग्री चीनी कंपनियों की है। लिहाजा निशानदेही के बाद वापस जवाली थाना लाए गए दोनों आंतकियों से अलग-अलग हुई पूछताछ में दोनों ने माना है कि हिजबुल मुजाहिदीन को पाकिस्तान से असलह की खेप आती है।

You might also like