राज्यसभा की ओर नड्डा की कदमताल

शिमला भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री व प्रदेश के पूर्व वन मंत्री जेपी नड्डा राष्ट्रीय राजनीति में पांव जमाने के बाद अब राज्यसभा में जाने की तैयारी में हैं। बताया जाता है कि स्थानीय निकाय व पंचायत चुनावों में उन्होंने इस बार ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखाई है। बिलासपुर सदर के विधायक होने के नाते वह प्रचार कार्य की देखरेख रिमोट कंट्रोल द्वारा ही संभाले हुए हैं। हालांकि उनके समर्थक इस कवायद को उनकी व्यस्तता से जोड़कर दिखा रहे हैं, लेकिन अंदर की खबर रखने वालों की मानें, तो श्री नड्डा अप्रैल 2012 में मौजूदा राज्यसभा सांसद विप्लव ठाकुर की सीट खाली होने पर भाजपा के प्रादेशिक कोटे से उस पर बाजी मारने को तैयार बैठे हैं। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी से उनकी नजदीकियां जगजाहिर रही हैं। इसी के बूते वह काबीना मंत्री पद छोड़कर राष्ट्रीय सियासत में कूदे हैं। एक बड़ी वजह यह भी बताई जा रही है कि श्री नड्डा न तो बिलासपुर और न ही प्रदेश की राजनीति में ज्यादा दिलचस्पी दिखा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक मौजूदा सिंचाई एंव जन स्वास्थ्य मंत्री रविंद्र रवि का चुनाव क्षेत्र आरक्षित होने से उन्हें भी भावी सांसद के लिए तैयार किया जा रहा है। रविंद्र रवि मुख्यमंत्री धूमल के पंच रत्नों में दूसरे स्थान पर गिने जाते हैं। पहला स्थान स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव बिंदल का माना जाता है। इसके लिए अभी से जहां रविंद्र रवि को कांगड़ा समेत चंबा का चुनाव प्रभार सौंपा गया है, वहीं विधानसभा में श्री नड्डा के स्थान पर संसदीय कार्यभार भी उन्हीं के सुपुर्द किया गया है। उधर, पूर्व सांसद व भाजपा नेता कृपाल परमार को देहरा से विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए कहा जा सकता है।

You might also like