सर्राफा बाजार में मजबूती बरकरार

नई दिल्ली — अमरीका में आर्थिक आंकड़े सुधरने और यूरोप में वित्तीय संकट के बीच बीते सप्ताह के दौरान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जहां सर्राफा कारोबार में मंदी रही, वहीं घरेलू स्तर पर पूछ-परख होने से दिल्ली सर्राफा बाजार में दोनों कीमती धातुओं में मजबूती बनी रही। आलोच्य सप्ताह के अंत में स्थानीय सर्राफा बाजार में सोने के भाव 25 रुपए की मजबूती के साथ 20730 रुपए प्रति दस ग्राम पर बंद किए गए और चांदी 950 रुपए की दौड़ लगाती हुई 44850 रुपए प्रति किलो पर दर्ज की गई। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सर्राफा कारोबार में उतार का रुख रहा। अमरीका में सुधार के आंकडे़ जारी होने और यूरोप के वित्तीय संकट के समाधान के प्रयास करने से सोने के भावों में उतार का रुख रहा। अंतरराष्ट्रीय सर्राफा कारोबार में सोमवार को सोने के भाव 1396.87 डालर प्रति औंस से शुरू हुए थे, जो कि सप्ताह के अंत में 20.07 डालर घटकर 1376.80 डालर प्रति डालर रह गए। चांदी का कारोबार भी मंदा रहा। इसके भाव सोमवार को 29.54 डालर प्रति औंस पर शुरू हुए थे, जो कि सप्ताह के अंत में 0.21 डालर उतरकर 29.13 डालर प्रति औंस दर्ज किए गए। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सर्राफा कारोबार में उतार का रुख बने रहने के आसार हैं।  कारोबारियों का कहना है कि यूरोपीय ऋण संकट ने स्पेन और बेल्जियम की ओर बढ़ना शुरू किया है। इससे यूरो के भाव गिर गए और डालर को मजबूती मिली। सोने का कारोबार मंदा हो रहा। निवेशकों ने सतर्कता का रुख अपनाया। हालांकि विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि अमरीका का अपने राजकोषीय घाटे 9.9 प्रतिशत पर काबू पाना होगा अन्यथा उसकी दशा यूनान की तरह हो सकती है।  अमरीका में औद्योगिक उत्पादन के आंकडे़ सकारात्मक रहने से डालर ने मजबूती पकड़ी है। यूरोपीय ऋण संकट के फैलने की आशंका से यूरो के भाव गिर रहे है। इससे निवेशकों ने सर्राफा बाजार से किनारा कर लिया है। आलोच्य सप्ताह के दौरान विदेशों में मंदी होने के बावजूद स्थानीय सर्राफा बाजार में तेजी बनी रही। सप्ताह के अंत में सोने के भाव 20705 रुपए से 25 रुपए बढ़कर 20730 रुपए प्रति दस ग्राम पर दर्ज किए गए। मांग आने से चांदी के भावों ने रफ्तार पकड़ी। इसके भाव 43900 रुपए से 950 रुपए दौड़ते हुए 44850 रुपए प्रति किलो हो गए। आलोच्य सप्ताह में सोना बिटुर 20610 रुपए प्रति दस ग्राम और चांदी के भाव 44430 रुपए प्रति किलो पर दर्ज किए गए। कारोबार के दौरान चांदी की तेजी के असर से सिक्का लिवाली और बिकवाली 1200-1200 रुपए प्रति सैकड़ा चढ़ गए। इनके भाव 49000-49100 रुपए प्रति सैकड़ा पर दर्ज किए गए। गिन्नी के दाम 250 रुपए घटकर 16500 रुपए प्रति रह गए।

You might also like