सात शहरों को बन रही योजना

नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग श्रमशक्ति के लिहाज से बेहतर कार्य कर रहा है। स्टेट टाउन प्लानर एएन गौतम के मुताबिक विभाग संबंधित क्षेत्रों में अवैध निर्माण शुरू होते ही काम को रोक देता है। टीसीपी महकमा वर्तमान में प्रदेश के सात नए शहरों के लिए डिवेलपमेंट प्लान तैयार कर रहा है, ताकि नए शहरों को सुनियोजित ढंग से बसाया जा सके। ये शहर वाकनाघाट, परवाणू, धर्मशाला, नेरचौक, चिंतपूर्णी, मणिकर्ण नग्गर हैं। शहरीकरण के दौर में उन्होंने जनता का भी आह्वान किया कि भवन निर्माण से पूर्व नक्शे को पास करवाकर ही॒निर्माण कार्य शुरू किया जाए। प्रदेश में अवैध निर्माण रोकने के लिए लोगों को अपनी मानसिकता बदलनी होगी। वर्तमान में अवैध निर्माण के दायरे में आने वाले अधिकतर मकान लोगों के पुश्तैनी हैं, जो कि पंचायतों के समय के बने हैं। अवैध भवनों को रेगुलर करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। जो लोग राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर लाई जा रही रिटेंशन पालिसी के तहत आवेदन करते हैं, उनके मकान रेगुलर किए जा रहे हैं।

You might also like