Yearly Archives

2011

शुभागमन नववर्ष

मानव इतिहास की सबसे पुरानी पर्व परम्पराओं में से एक नववर्ष है। नववर्ष के आरंभ का स्वागत करने की मानव प्रवृत्ति उस आनंद की अनुभूति से जुड़ी हुई है जो बारिश की पहली फुहार के स्पर्श पर, प्रथम पल्लव के जन्म पर, नव प्रभात के स्वागतार्थ पक्षी के…

आरक्षण देश और समाज की एकता के लिए बड़ा खतरा

(लेखक, शेर सिंह अंद्रेटा पालमपुर से हैं)  यह बिलकुल सही है कि हिमाचल प्रदेश की राजपूत कल्याण सभा जाति पर आधारित आरक्षण का शुरू से ही विरोध करती आ रही है, परंतु लोकसभा में इस समुदाय के दो सांसद तरखान जाति को अनुसूचित जाति का दर्जा देने की…

अलविदा 2011

परिवर्तन प्रकृति का अटल नियम है, उसी क्रम में नववर्ष की आहट के साथ वर्ष 2011 विदा हो जाएगा। जाते-जाते वह देश के मानचित्र पर कुछ ऐसे चिन्ह छोड़ गया है, जिन्हें कई कारणों से भुलाना आसान नहीं होगा। यदि एक ओर वर्ष 2011 देश में भ्रष्टाचार के…

हिमाचली प्रतिभा का साल

साल की कीमत न जाने कितनी मंजिलों का हिसाब है और वक्त के साथ बढ़ने का कारवां यहीं से गुजरता है। हिमाचल में मुस्कराने के अनेकों अवसर सोचने पर विवश करते रहे कि इन पहाड़ों को भी ऊंचा उठने का हक है। सारे देश के सामने सारेगामा लिटिल चैंप…

भारत पाक युद्ध 1971 की याद

(खुशवंत सिंह,लेखक, वरिष्ठ पत्रकार हैं   ) हमारी फौज पूर्वी पाकिस्तान में 40 मील तक अंदर चली गई थी और हमारे अफसर मुक्ति वाहिनी की अनेक यूनिटें संचालित कर रहे थे। पूर्वी पाकिस्तान के लोगों को जनरल टिक्का खान की निर्दयता और हैवानियत का शिकार…

108 अटल स्वास्थ्य सेवा

शेर सिंह, मेरुपा  मरीज खुश हैं, डाक्टर साहब   उसके  घर के नजदीक से गुजरता है,   ये सोचकर ही   तबीयत सुधरती है,   एक विश्वास टूटती सांसांे में है,   आंख से आंसू रूठ गए,   मरहम का बीज हर तरफ बिखरा है,   सांझ भी सवेरे…

हमीरपुर एनआईटी से कुछ सीखें

(कृष्न संधु, कुल्लू ) अभी-अभी मुझे हमीरपुर जाने का मौका मिला और फिर वहां का एनआईटी  कांप्लेक्स देखने का भी मौका मिला। जिस तरह का साफ-सुथरा निर्माण वहां किया गया है, या हो रहा है, उससे प्रदेश के लोक निर्माण विभाग के अभियंताओं को बहुत कुछ…

और यह भी…

(प्रेम शर्मा, नादौन) मायावती ने कई मंत्री हटा दिए हैं। अब तो उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। मायावती को अब जाकर पता चला कि ये मंत्री भ्रष्ट थे, या तो माया की माया है। समझने में देरी हुई या वह सब जानती बूझती हैं।

जन लोकपाल अभी भी अधूरा

(खजान सिंह वर्मा, चौंतड़ा, मंडी)  अन्ना हजारे द्वारा अगस्त क्रांति आंदोलन के साथ 27 अगस्त को केंद्र सरकार ने अन्ना व देश की जनता को विश्वास दिलाया था कि जन लोकपाल बिल में सुझाए गए सुझावों को सरकार गंभीरता से डील करेगी, लेकिन जब सरकार…

अन्ना पर उलझा देश

(शगुन हंस, योल)  जन लोकपाल एक ऐसा मुद्दा जिसे सरकार को न निगलते बन रहा है न उगलते बन रहा है। सरकार कहती है वह होगा जो संसद चाहती है, अन्ना कहते हैं वह होगा जो पूरा देश चाहता है। सकते में सरकार, कि स्थिति से कैसेसे निपटा जाए, जिससे सांप…