Daily Archives

Jan 6th, 2012

हिमाचल पुलिस का नया जन्म

पुलिस का हुलिया बदलने का अंदाज नया नहीं, लेकिन गंभीरता से प्रयास हों, तो हिमाचल की छवि में पुलिस की विश्वसनीयता और कार्यशैली में निखार अवश्य ही दर्ज होगा। पुलिस प्रमुख डीएस मन्हास वर्दी का रुतबा और वर्दी के भीतर सरोकार परिमार्जित करने की…

राष्ट्रीय खेल 2012 के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम कब से

(भूपिंद्र सिंह,लेखक, पेनल्टी कार्नर खेल पत्रिका के संपादक हैं) हिमाचल को एथलेटिक्स, मुक्केबाजी तथा कुश्ती में पदक मिलते रहे हैं। अन्य व्यक्तिगत  खेलों में भी हिमाचल कभी कभार कोई न कोई पदक जरूर जीत ही लेता है। हिमाचल ओलंपिक संघ को…

भ्रष्ट जाल से मुक्ति

(प्रेमनाथ जोशी, होशियारपुर)  ‘चुनावों की गर्मी’ संपादकीय बहुत ही सार्थक है, क्यांेकि चुनावों पर ही लोकतंत्र की नींव रखी जाती है। ऐसा वोट का ठीक उपयोग करके ही हो सकता है, जबकि गत 64 वर्षों से चुनावों में केवल उम्मीदवारों में ही गर्मी आती…

गरीबी अपने आप में अर्जित बीमारी है

(प्रेम चंद माहिल हमीरपुर)  गरीब व्यक्ति का जीवन दुख भरा होता है। वह समाज में दया का पात्र समझा जाता है, परंतु वास्तविकता से अध्ययन किया जाए तो गरीबी के लिए दोषी स्वयं गरीब व्यक्ति ही है। गरीब की सोच भी गरीब होती है। बच्चों के पढ़ाने के…

और यह भी…

(कूलभूषण, चंबा) उत्तर प्रदेश के परिवार कल्याण मंत्री कुशवाहा को भ्रष्टाचार के आरोप में बसपा ने निकाला, पर भाजपा ने पार्टी में शामिल किया। भाजपा शायद इस बात को मानती है कि भ्रष्टाचार से परहेज करो भ्रष्टाचारी से नहीं और फिर पार्टी में जहां…

अप्रिय विवाद

मुख्य चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी ने पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल द्वारा चुनाव अधिकारियों को प्रशासनिक कामकाज में दखलबाजी के आरोप को लेकर जो कुछ कहा है, उससे चुनाव आयोग की स्थिति और स्पष्ट होती है। युद्ध और राजनीति में भले ही सब कुछ…

2011 के मलबे पर नया साल

(प्रो. एनके सिंह ,लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं )  हम अपने विकास का बखान तो करते हैं पर ऊंची इमारतें और महंगी शादियां लाखांे लोगों की गरीबी नहीं दूर कर सकतीं ...  जब सूर्य धौलाधार की पहाडि़यों के पीछे से उगा तो…

विकलांग भी तो इनसान ही हैं

(प्रेमपाल महिंद्रू, नाहन) हर शहर, हर कस्बे, हर गांव में तरह-तरह से विकलांग घूमते नजर आते हैं। इन्हेंंं निहारते तो सभी हैं, परंतु इनके लिए हाथ कौन बढ़ाता है? ये बेचारे तो अपने में ही मस्त, बेखौफ, बेमतलब, बेसहारा, शहरों, बाजारों, गलियों…

संधोल क्षेत्र में खेतों की मिट्टी जांची

(दिनेश नेगी, संधोल,मंडी)  धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के इलाका संधोल में आज तक किसी भी क्षेत्र के मिट्टी की जांच नहीं हुई है, जिससे गरीब किसानों को पता चल सके कि कौन से खेत में किस किस्म का बीज डाला जाए, जिससे कि उपज बढ़े, ताकि गरीब परिवार…

पहाड़ों की रानी ने ओढ़ी सफेद चादर

 शिमला — लंबे इंतजार के बाद मौसम ने पहाड़ों की रानी शिमला को कुदरत का नायाब तोहफा बख्श दिया है। जिस बर्फबारी का शिमला की जनता व पर्यटक लंबे समय से इंतजार कर रहे थे, गुरुवार को मौसम ने लोगों की उस हसरत को पूरा कर दिया। पश्चिमी विक्षोभ की…