Daily Archives

Jan 21st, 2012

वाजपेयी का असर आज भी असरदार

(दीपक अरोड़ा, होशियारपुर)  पिछली 25 दिसंबर को यहां क्रिसमस का त्योहार मनाया जा रहा था, वहीं देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म दिन भी मनाया गया। उनका यह 88वां जन्मदिन था पर उनकी तबीयत अब ज्यादा ठीक न होने के कारण उनका…

नीली क्रांति कैसे सफल होगी?

(कृष्ण संधु, कुल्लू)  प्रदेश में फिश प्रोसेसिंग के दो प्लांट लगने वाले थे, जिनमें एक बिलासपुर व दूसरा कुल्लू में लगाया जाना था, परंतु स्टाफ  की कमी व नई भर्ती पर रोक के कारण सरकार ने इसे मंजूर नहीं किया। ऐसे में ‘नेशनल फिशरी डिवेलपमेंट…

और यह भी…

(शगुन हंस, योल) कलमाड़ी को जमानत, सुखराम को जमानत, कनिमोझी को बेल, क्वात्रोच्चि को क्लीन चिट। यानी देश को अरबों रुपए हड़पने वाले अब खुली हवा में घूमेंगे और कानून को शिकस्त देने के तरीके ढूंढेंगे और सौ फीसदी ये सफल भी होंगे, क्योंकि पैसा…

आंकड़ों की बाजीगरी

केंद्रीय सरकार खाद्य मुद्रास्फीति की दर लगातार शून्य से नीचे रहने पर संतोष व्यक्त कर सकती है, लेकिन हकीकत में इसे मात्र आंकड़ेबाजी की बाजीगरी से ज्यादा आंकना वाजिब नहीं होगा। सरकार ने लगातार तीसरे सप्ताह आलू-प्याज सहित अन्य सब्जियों के दाम…

पैरा मिलिट्री जवानों को मिले सेना के बराबर सम्मान

(डीआर सकलानी,लेखक सरकाघाट से हैं) आज भी पैरा मिलिट्री फोर्सों के जवान देश के उग्रवाद ग्रस्त राज्यों, जम्मू-कश्मीर, असम, त्रिपुरा, मणिपुर, बांग्लादेश सीमाओं व पाकिस्तान की सरहदों के अलावा छत्तीसगढ़ आदि में उग्रवाद को जड़ से कुचलने के लिए…

बर्फबारी राष्ट्रीय आपदा क्यों नहीं

कभी आसमान से चांदी के गिरने का इंतजार था और अब मनहूस राहों में बर्फ के फाहों ने जिंदगी रोक दी। बर्फ का कातिल अंदाज अंततः चुराहघाटी के पांच लोगों को लील गया। गुजर-बसर के अपने पैमाने होते हैं और इनसे होकर जिंदगी की सार्थकता भी है, लेकिन…

दलितों की दयनीय हालत

(प्रेमपाल महिंद्रू, नाहन)  जिला सिरमौर चंबा के बाद दूसरा पिछड़ा जिला है। यहां का अधिकतर क्षेत्र पहाड़ी है तथा गिरिपार का क्षेत्र तो आजादी के 65 वर्ष बीत जाने के बाद भी अति पिछड़ा हुआ है। यह क्षेत्र आज भी विकास के लिए तरस रहा है। प्रत्येक…

राष्ट्र के लिए अच्छा संकेत नहीं

(जोगिंद्र ठाकुर, कुल्लू)  भारत के इतिहास  में यह पहला मौका है जब कोई  सेना अध्यक्ष  न्याय के लिए सरकार के खिलाफ  देश की सर्वोच्च अदालत में गया हो। जनरल विजय कुमार सिंह की नियुक्ति से लेकर अब तक रिकार्ड में दो-दो जन्मतिथियां चलती रहीं,…

सलमान रशदी और भारत

(खुशवंत सिंह,लेखक, वरिष्ठ पत्रकार हैं )  मैं अपने देशवासियों को सलमान रशदी से बेहतर जानता था। उनका बर्दाश्त करने का माद्दा बहुत कम है और अगर उन्होंने किताब को नकार दिया तो वह कानून को भी अपने हाथ में ले लेंगे...  सलमान रशदी मेरे जीवन में…

बर्फ ने पीस डाली कार

शिमला —  शिमला में बर्फबारी ने लोगों का जीना दूभर कर दिया है। बर्फबारी के कारण आए दिन लोग किसी न किसी तरह की मुसीबत में फंस रहे हैं। फिर चाहे बात बर्फ पर चलकर फिसलने की हो या बर्फबारी के कारण मूलभूत सुविधाओं के प्रभावित होने की। यह बर्फबारी…