और यह भी…

(शगुन हंस, योल)

पदोन्नति में आरक्षण को लेकर संसद में लात-घूसे चलते पूरे देश ने देखे, तो अफजल गुरु ने भी देखे होंगे। अफजल सोचता होगा संसद पर हमला करके वह यूं ही फंस गया, ये नेता तो आपस में लड़कर ही मर जाते।

 

You might also like