चंडीगढ़-दिल्ली से आती थीं काल गर्ल्ज

शिमला  — शिमला में चंडीगढ़ व दिल्ली की काल गर्ल्ज का जिस्म भी बिकता था। ग्राहकों की डिमांड के अनुसार चंडीगढ़ व दिल्ली से काल गर्ल्ज को शिमला बुलाकर उन्हें सफेदपोशों के सुपुर्द किया जाता था। काल गर्ल्ज की उम्र देखकर उसके जिस्म का सौदा किया जाता था। 20 से 25 साल की युवती की डील एक रात के लिए 10 से 15 हजार के बीच की जाती थी। चंडीगढ़ व दिल्ली से बुलाई जाने वाली इन काल गर्ल्ज को शहर के कई होटलों में जिस्मफरोशी के लिए भेजा जाता था। यही नहीं, इस जिस्मफरोशी के धंधे में पश्चिम बंगाल, दार्जिलिंग व कालका सहित लोकल युवतियां भी शामिल बताई जा रही है। इसका खुलासा सेक्स रैकेट के पकड़े गए सरगना हंसराज व मीना भाटिया ने पूछताछ में किया है। बताया जा रहा है कि देह व्यापार में धकेली गई युवतियों को जिस्मफरोशी के सौदागर महीने का पैसा देते थे। 15 से 20 हजार सैलरी देकर इनसे जिस्मफरोशी का धंधा करवाया जाता था।  पश्चिम बंगाल और दार्जिलिंग की लड़कियों की इज्जत का सौदा एक से पांच हजार रुपए के बीच में किया जाता थ, जबकि चंडीगढ़ और दिल्ली की कॉल गर्ल्ज की वसूली पांच से दस हजार के बीच में एक रात की ही की जाती थी। पुलिस से जुडे़ सूत्र बताते हैं कि शिमला में बाहरी राज्य के सेक्स रैकेट भी सक्रिय हैं। एक दर्जन से अधिक सेक्स रैकेट शिमला में काम कर रहे हैं। पुलिस को अभी जिस्मफरोशी का धंधा करने वाली उन युवतियों की तलाश है जो हंसराज व मीना भाटिया के सेक्स रैकेट से जुड़ी हैं। जतोग की रहने वाली मीना भाटिया व उसका पति हंसराज पिछले कई वर्षों से जिस्मफरोशी का गोरखधंधा कर रहे हैं। पुलिस ने पति-पत्नी दोनों के मोबाइल कब्जे में ले लिए हैं। यहां बताते चलें कि शिमला पुलिस ने कच्ची घाटी में सक्रिय एक सैक्स  रैकेट को पकड़ा है जोकि जतोग का रहने वाले पति-पत्नी चला रहे थे। पुलिस ने इस मामले में मीना भाटिया, हंसराज भाटिया, होटल कर्मी रमन व राकेश को गिरफ्तार किया है जिनसे पूछताछ की जा रही है। उधर इस मामले में डीएसपी हैड क्वार्टर बृजेश सूद का कहना है कि पुलिस तफतीश कर रही है। आरोपी से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि चंडीगढ़ व दिल्ली की काल गर्ल्ज को भी शिमला बुलाकर जिस्मफरोशी करवाई जाती थी। इस सेक्ट रैकेट में कई युवतियां शामिल हो सकती हैं जिनकी तलाश की जा रही है।

You might also like