मंडी —  सड़कों के मामले में प्रदेश के सबसे बड़े जिला मंडी में चौराहे व तिराहों की भरमार है। बडे़ शहरों के साथ ही छोटे शहरों और कस्बों में भी चौराहों से हर रोज हजारों वाहन व लोग गुजर रहे हैं। मंडी शहर में चौराहे बडे़ शहरों के व्यस्तम टै्रफिक चौक की तरह बन चुके

धर्मपुर —  धर्मपुर क्षेत्र के बरडाणा में ईको कार दो सौ मीटर गहरी खाई में लुढ़क गई। हादसे में कार चालक की मौत हो गई है, एक अन्य सवार घायल है, जिसे धर्मपुर में प्राथमिक उपचार के बाद  हमीरपुर रैफर कर दिया गया है, जहां उसकी भी हालत नाजुक बताई जा रही है। जानकारी के

मंडी —  प्रदेश सरकार द्वारा कामर्शियल वाहनों के टैक्स में की गई बेहताशा बढ़ोतरी के विरोध में आज से विभिन्न कामर्शियल वाहन यूनियन हड़ताल पर चली गई है। मंडी शहर के साथ ही जिला अन्य शहरों व कस्बों में सोमवार से बुधवार तक न तो ऑटो चलेंगे और न ही  टैक्सी की सेवाएं मिलेंगी। इसके

कुल्लू —  जिला कुल्लू में इस समय दर्जनों चौराहे-तिराहे हैं, लेकिन कुछ चौराहे दिन प्रतिदिन ज्यादा खतरनाक बनते जा रहे हैं। कुल्लू के ढालपुर चौक पर बने तिराहे पर हर दिन हजारों की संख्या के हिसाब से वाहन गुजरते हैं। खतरनाक तिराहा होने के चलते यहां पर हर समय किसी न किसी पुलिस कर्मी की

कुल्लू —  देवभूमि कुल्लू में मिस हिमाचल 2014 के सेमीफाइनल का शानदार आगाज हुआ। ब्यूटी विद ब्रेन मिस हिमाचल 2014 के सेमीफाइनल में उमड़ी भीड़ ने प्रतिभागियों के उत्साह को भी दोगुना कर दिया। कुल्लू के नामी गिरामी होटलों में शुमार शोभला इंटरनेशनल में मिस हिमाचल के सेमीफाइनल राउंड के पहले दिन प्रभिगियों ने टेलेंट

नई दिल्ली – भाजपा ने रविवार को कांग्रेस पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि उसने प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा इसलिए नहीं की, क्योंकि उसे लोकसभा चुनाव हारने का खौफ सता रहा है। पार्टी की यहां चल रही दो दिवसीय राष्ट्रीय परिषद की बैठक में आज दिए अपने भाषण में लोकसभा में विपक्ष

दिल्ली – कोर्ट ने दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार को बड़ा झटका दिया है। 3 दिन पहले रात में दिल्ली की सड़कों पर गश्त और छापा मारने के मामले में अब कोर्ट ने कानून मंत्री सोमनाथ भारती के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दिए हैं। गौरतलब है कि कानून मंत्री भारती और उनके समर्थकों

 1857 से 1942 तक हिंदू-मुस्लिम भेदभाव भुला कर यह हिंदीभाषी प्रदेश जमकर लोहा लेता रहा अंग्रेजों से, बार बार आहत हुआ, गिरा और फिर उठ खड़ा हुआ। मगर अफसोस ‘काऊ बेल्ट’ की निंदा में रस लेने वाले संस्कारविहीन अंग्रेजीपरस्त राजनेता, भूरी चमड़ी के अंग्रेजी-पूजक अफसर और अंग्रेजी तक सीमित पत्रकार, बेचारे यह सब कहां जानते

गोविंद निहलानी जन्म : 19 अगस्त, 1940 (आयु 73) व्यवसाय : निर्देशक पुरस्कार : 1984 में फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ निर्देशक पुरस्कार-अर्द्ध सत्य, 1981 में फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ निर्देशक पुरस्कार-आक्रोश प्रमुख फिल्में बतौर निर्देशक – देव, तक्षक, हजार चौरासी की मां, संशोधन, द्रोह काल, कर्म योद्धा, दृष्टि, तमस, आघात, पार्टी, अर्द्ध सत्य, विजेता, आक्रोश साहित्यिक कृतियों पर बनी