Daily Archives

Sep 28th, 2012

मैं काला हूं

(शेर सिंह, मेरुपा, कुल्लू) यह सोचकर या देखकर तुम लोग हमसे नफरत करते हो आधी रात के वक्त कोई चिल्लाए तो तुम भी तो हमारी तरह डरते हो फिर क्यों अपनी सोच में भेदभाव का रंग भरते हो बिना वजह के, तुम क्यों हमसे लड़ते हो मां…

केंद्र ने हिस्सेदारी बढ़ाई

(दिवेश नेगी, घनाला संधोल, मंडी) शिक्षा का अधिकार कानून (आरटीई) के तहत बजट आबंटन में बढ़ोतरी को लेकर उत्तर प्रदेश एवं बिहार का दबाव आखिरकार काम कर गया है। केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश, बिहार सहित नौ पिछडे़ राज्यों को अधिक बजट देने का…

रितेश डोगरा की याद में लंबी दौड़ प्रतियोगिता

(भूपिंद्र सिंह लेखक, पेनल्टी कार्नर खेल पत्रिका के संपादक हैं) कनिष्ठ स्तर की उत्तर भारतीय व अखिल भारतीय एथिलेटिक प्रतियोगिताओं में 5000 मीटर व दस हजार मीटर की दौड़ में रितेश ने अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय एथलेटिक में भी हिमाचल प्रदेश…

और यह भी..

(सुरेश कुमार, योल) टिकट के लिए जितनी दौड़ दिल्ली तक लगाई जा रही है, अगर इतनी दौड़ नेता रेल विस्तार और डिपो के राशन की कटौती के समय लगाते तो शायद रेल विस्तार भी हो चुका होता और डिपुओं में राशन भी उचित मात्रा में मिलता। पर अफसोस, इस दौड़…

हिमाचल कला, संस्कृति एवं भाषा अकादमी में परिवर्तन की लहर

(डा. सुशील कुमार फुल्ल,  राजपुर, पालमपुर) वर्षों से हिमाचल के लेखक हिमाचल कला, संस्कृति एवं भाषा अकादमी के अनेक प्रावधानों में परिवर्तन की मांग करते रहे हैं, परंतु अभी कुछ हुआ नहीं, लेकिन भाषा एवं संस्कृति विभाग के युवा निदेशक राकेश कंवर…

मूल्य वृद्धि रोकने की कीमत

(प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व  चेयरमैन हैं) इस बात का कोई औचित्य नहीं है कि डीजल के मूल्यों को बढ़ाया जाए और फिर केंद्र की बजाय राज्यों को इसमें आर्थिक सहायता देने के लिए कहा जाए। मतदाताओं को ठगने की प्रदर्शन…

सरकार का अध्यात्मवाद

मन के बंधन अगर टूटें और सोच के समुद्र में नहाकर राजनीतिक पवित्रता को लफ्ज मिलें तो यह असाधारण शक्ति सरीखा अनुभव होगा। ऐसे में चुनाव व अध्यात्म के रिश्ते की पड़ताल में कुछ राजनीतिक पात्र अवश्य ही मिलेंगे, लेकिन मोह माया से दूर सियासी बस्ती…

घाटी में खौफ

कश्मीर घाटी में सरकार के तमाम दावों के बावजूद राज्य के पंचों व सरपंचों द्वारा इस्तीफा देने का सिलसिला घाटी में उभर रहे भय के वातावरण का नया सबूत है। अब तक जहां सौ से अधिक पंच व सरपंच इस्तीफा दे चुके हैं, वहीं पिछले दिनों पांच सरपंचों की…

चिट में साक्षी-नैंसी की मौत का राज

शिमला — चेल्सी स्कूल की छात्राओं नैंसी व साक्षी की मौत का राज भले ही अभी तक पुलिस न जान पाई हो, मगर उनके पिता ने जो आरोप लगाए हैं, उन पर यदि गौर करें तो यह मामला काफी सनसनीखेज लगता है। साक्षी के पिता कैलाश ठाकुर ने ‘दिव्य हिमाचल’ के साथ…

सरकार के खिलाफ जोरदार नारे

शिमला — ठियोग व कुमारसैन के लोगों ने किसान सभा के बैनर तले गुरुवार को शिमला में एचआरटीसी के प्रबंधन निदेशक का घेराव किया। इस दौरान लोगों ने करीब पौने घंटे तक यातायात को भी बाधित रखा। किसान सभा के राज्य उपाध्यक्ष राकेश सिंघा के नेतृत्व…