अस्पतालों के लाइसेंस जांचेगी पुलिस

बद्दी —  जिला पुलिस बद्दी बीबीएन के अंतर्गत चल रहे तमाम अस्पतालों व क्लीनिकों के लाइसेंस की जांच करेगी, ताकि मरीजों के जीवन से खिलवाड़ न हो। इसके लिए बाकायदा एक टीम गठित करके औचक निरीक्षण करके बीबीएन के अस्पतालों को पारखी नजर से देखा जाएगा। गौरतलब है कि गत दिनों बीबीएन के एक अस्पताल में इलाज के बाद एक गर्भवती की मौत हो गई थी, जिस पर काफी बवाल मचा था और लोगों ने चक्का जाम कर प्रदर्शन किया था। इस मामले की जांच पुलिस कर रही है। इसके बाद पुलिस हर अस्पतालों, क्लीनिकों व छोटे-मोटे स्थानों पर बैठकर मरीजों का इलाज करने वाले हर चिकित्सक का वैध प्रमाण पत्र देखेगी। जिला पुलिस प्रमुख जी शिवा कुमार ने बताया कि पुलिस किसी भी मामले में ढील बरतने के मूड़ में नहीं है, लेकिन अस्पतालों में इलाज के दौरान हुई मौत में काफी गहनता से जांच करनी पडती है। आपरेशन सिर्फ उन्हीं अस्पतालों में हो सकता है, जो कि क्लीनिक एस्टेबलिशमेंट एक्ट 2010 के तहत राज्य व केंद्र सरकार के पास पंजीकृत हो। इसके अलावा डिलीवरी करने वाले आपरेशन करने वाले अस्पतालों को एमटीपी (मेडीकल टर्मिनेशन प्रेगनेंसी) सेंटर को होना अनिवार्य है, ताकि आपातकाल में वहीं हर सुविधा उपलब्ध हो। वहीं आपरेशन वहीं चिकित्सक करे जो मास्टर ऑफ सर्जन की डिग्री रखता हो और अगर किसी अन्य चिकित्सक ने पैसे कमाने के चक्कर में आपरेशन पर हाथ डाला तो उसको बख्शने के मूड में पुलिस नहीं है।

You might also like