औपचारिकताएं पूरी न करने पर मंडी में 21 क्रशर बंद

मंडी – मंडी जिला में 21 क्रशर यूनिट बंद हो गए हैं। जिनमें  से विभाग ने  नौ क्रशरों स्थाई तौर पर बंद कर दिया है। जबकि औपचारिकताएं पूरी न करने पर  विभाग ने जिला के 12 क्रशरों को  बंद कर दिया है। सभी क्रशर पर्यावरण मंत्रालय की परमिशन न मिलने के कारण बंद हो गए है। हालांकि क्रशर प्रबंधन  अनुमति लेने के लिए ऑपचारिकताओं को पूरा करने में जुटे हुए हैं लेकिन विभाग ने इन क्रशर यूनिटों को फिलहाल बंद कर दिया है।
मंडी जिला में कुल 36 क्रशर यूनिट हैं जिनमें वर्तमान में 15 यूनिट काम कर रहे हैं। जिनमें 9 यूनिट पूर्व से ही पर्मानैंट बंद हो गए हैं। वहीं अब विभाग ने औपचारिकता पूरी न करने व परमिशन न मिलने के चलते 12 क्रशर यूनिट बंद कर दिए हैं। क्रशर यूनिट के बंद हो जाने से क्रशर प्रबंधकों में हड़कंप मच गया है। इन्हें आर्थिक तौर पर भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है।   इसके साथ ही सरकार को भी इसका नुकसान हो रहा है। सरकार को जो राजस्व इन क्रशर यूनिटों से प्राप्त होना था इनके बंद हो जाने से अब सरकार को राजस्व नहीं मिल रहा है। ऐसे मेंं अस्थाई तौर पर बंद किए गए क्रशर तभी चालू हो सकेंगे जब वे सारी औपचारिकताएं पूरी कर पाएंगे। जिला खनन अधिकारी मंडी कुलभूषण शर्मा ने खबर की जानकारी देते हुए कहा कि मंडी जिला में कुल 36 क्रशर यूनिट हैं। जिनमें 9 यूनिट पर्मानैंट बंद है। वहीं 12 यूनिट को हाल ही में अस्थाई तौर पर बंद कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि औपचारिकता पूरी न करने पर इन्हें परमिशन नहीं मिल पा रही है। जिसके चलते इन्हें बंद कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि औपचारिकताएं पूरी करने व पर्यावरण मंत्रालय की मंजूरी के बाद ही ये क्रशर यूनिट चालू हो सकेंगे।

You might also like