टेंडर से लोकल ठेकेदारों का बायकाट

newsबरोटीवाला —  बीबीएन विकास प्राधिकरण कार्यालय में शनिवार को उस समय बबाल मच गया जब बीबीएन के विकास के लिए बीबीएनडीए द्वारा लगाए गए चार करोड़ 52 हजार रुपए के टेंडरों का स्थानीय ठेकेदारों ने बायकाट कर दिया व विभाग पर गलत तरीके से टेंडर इश्यू करने के  आरोप जडे़। इस दौरान कुछ ठेकेदारों ने विभाग के खिलाफ बीबीएनडीए कार्यालय के बाहर विभाग के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया।  स्थानीय ठेकेदारों जरनैल सिंह, एनके गुप्ता, गुरमीत सिंह, धर्मेंद्र, राजीव भल्ला, कल्याण सिंह, सुरजीत सिंह, जोगिंद्र सिंह, मदन समेत अनेक ठेकेदारों का कहना है कि विभाग ने टेंडर प्रक्रिया में अनियमिताएं बरती हैं व जो ठेकेदार विभाग द्वारा निर्धारित मापदंडों को भी पूरा नहीं करते थे उन्हें टेंडर फार्म इश्यू कर दिए गए। इसके अलावा टेंडर बॉक्स बंद होने का समय 11 बजे तक का था व विभाग ने इसे साढे़ 11 बजे बंद किया। ठेकेदारों ने विभाग से मांग की है कि बीबीएनडीए के टेंडर अन्य विभागों की तर्ज पर ई-टेंडर प्रक्रिया के तहत होने चाहिए । टेंडर डालने आए  ठेकेदारों ज्ञान सिंह, भूपिंद्र सिंह, कश्मीर सिंह, गुरबक्श सिंह ने विभाग का पक्ष लेते हुए कहा कि टेंडर प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की अनियमिता नहीं बरती गई है व कुछ ठेकेदारों ने उन्हें जबरन टेंडर डालने से रोका है। उन्होंने कहा कि इसकी शिकायत एसडीएम नालागढ़ को दी गई है, जिसमें यह मांग की गई है कि बीबीएनडीए के विकास के लिए लगाए गए टेंडर या तो नालागढ़ खोले जाएं या फिर टेंडर डालने के  दिन उचित पुलिस बल तैनात किया जाए, ताकि छोटे ठेकेदारों के साथ नाइनसाफी न हो।

पंजीकृत ठेकेदारों को दिए टेंडर

इसके बारे में जब एक्सईएन बीबीएनडीए विश्नदास से बात की गई, तो उन्होंने बताया कि टेंडर प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की अनियमिता नहीं बरती गई है। चार करोड़ 52 लाख के जो टेंडर लगाए गए थे व उनके फार्म प्रदेश सरकार द्वारा रजिस्ट्रड ठेकेदारों को ही इश्यू किए गए। उन्होंने वायकाट के  आरोप को सिरे से नकारते हुए कहा कि उनके पास तीन टेंडर आए हैं, जिनमें बीबीएनडी ट्रक पार्किं ग झाड़माजरी, कोटला नाला व बद्दी बैरियर पर 16 मीटर ऊंची लाइट के लिए टेंडर उनके पास आए हैं।

You might also like