रास्ते से जरा सी नजर हटी, तो समझो दुर्घटना घटी

newsशिलाई — ग्राम पंचायत डांडा के गांव पागर से तिमीयाली के पास दो वर्ष पूर्व टूटी पुलिया से वहां खतरा उत्पन्न हो गया है। बीते दो वर्षों में पंचायत इसकी मरम्मत नहीं कर पाती। पुलिया का एक भाग टूटा है और आए दिनों इस रास्ते से दजर्नों छोटे बच्चे स्कूल जाते हैं। पुलिया के एक छोर पर मात्र आधा फुट रास्ता रह गया है और यदि जरा सी चूक हो जाए तो 15 फुट नीचे गहरी खाई में गिरते दे नहीं लगती ग्रामीणों ने पंचायत से मांग की है कि जो पुलिया का एक छोर टूटा है उसकी मरम्मत की जाए। पागर निवासी कमलेश सादीराम, रमेश सहित ग्रामीणों का कहना है कि पागर व तिमीयाली के बीच खंड में पुलिया का एक छोर टूट गया है। एक छोर पर मात्र आधा फुट रास्ता है और यदि किसी का पैर फिसल जाए तो वह 15 फुट खाई में जा गिरेगा। ग्रामीणों का कहना है कि इस रास्ते आए दिन सैकड़ों छोटे-छोटे बच्चे स्कूल जाते हैं, जो उस खतरनाक जगह पहाड़ी को पकड़ कर चलते हैं। यदि बच्चों में जरा सी चूक हो गई तो सीधा 15 फुट खाई में जा गिरेगा। ग्रामीणां ने बताया कि कई बार पंचायत में भी मामला उठाया गया, लेकिन अभी तक मरम्मत का कार्य शुरू नहीं हुआ। ग्रामीणों ने मांग की है कि टूटी हुई पुलिया के किनारे की जल्दी मरम्मत की जाए, ताकि ग्रामीणों को राहत मिले। इस संबंध में पागगर पंचायत के प्रधान कल्याण सिंह ने बताया कि वह जल्दी ही पुलिया को मेटिरियल ला कर मरम्मत का काम शुरू कर देंगे। उन्होंने कहा कि कुछ मेटिरियल मौका पर डाल दिया गया है।

 

You might also like