आज से आमरण अनशन

NEWSमंडी— ग्रामीण बैंक कर्मचारी यूनियन व ग्रामीण बैंक आफिसर्ज आर्गेनाइजेशन मांगों को लेकर आरपार की लड़ाई शुक्रवार से शुरू करने जा रही है। ग्रामीण बैंक यूनियन का आमरण अनशन शुक्रवार से शुरू होगा। दोनों यूनियन की तरफ से चार कर्मचारी नेता आमरण अनशन पर सेरी मंच में बैठेंगे। इससे पहले ग्रामीण बैंक कर्मचारी बैंक प्रबंधन के खिलाफ रोष रैली भी निकालेंगे। हालांकि  पीएनबी प्रबंधन ने ग्रामीण बैंक चेयरमैन व दोनों यूनियन को वार्ता के लिए दिल्ली भी बुलाया है, लेकिन इसके बाद भी ग्रामीण बैंक कर्मी आमरण अनशन शुरू करने जा रहे हैं। हिमाचल प्रदेश ग्रामीण बैंक कर्मचारी संघ और ग्रामीण बैंक आफिसर्ज आर्गेनाइजेशन के संयुक्त आंदोलन को लेकर प्रदेश भर से ग्रामीण बैंक कर्मी शुक्रवार को मंडी में जुटेंगे। आर्फिसर्ज यूनियन के महासचिव एमपी सोनी और कर्मचारी यूनियन के महासचिव सुनील कुमार ने बताया कि कई बार वार्ता के बाद भी कर्मचारियों की समस्याएं हल नहीं हुई हैं। इसलिए शुक्रवार से आमरण अनशन शुरू किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण बैंक प्रबंधन तक सभी समझौता वार्ता को तोड़ चुका है और अडि़यल रवैय अपनाया गया है। उन्होंने कहा कि दोनों यूनियन की मांग है कि 25 वर्षों से काम कर रहे सफाई कर्मी को बैंक अपना कर्मी माने और इन्हें रिक्त पडे़ संदेशवाहकों के सैकड़ों पदों में समाहित किया जाए। स्थानांतरण नीति के तहत स्थानांतरण न करना, संघ कार्यसमिति बैठक में शामिल पदाधिकारियों की जबरन वेतन कटौती करना, भ्रष्ट तत्त्वों को संरक्षण, कर्मचारियों को रोकडि़या भत्ता, पेट्रोल सुविधा,150 प्रतिशत आवास भत्ता और वेतनवृद्धि अभी तक लागू नहीं की गई है। इन सभी मांगों को पूरा किया जाए। उन्होंने कहा कि हिमाचल का बैंक होने के बाद हरियाणा में साक्षात्कार लेना बैंक प्रबंधन की पोल खोल रहा है। उन्होंने पीएनबी ने शुक्रवार को वार्ता के लिए प्रबंधन व यूनियन को बुलाया है, अगर हल नहीं निकला तो पंजाब नेशनल बैंक के दिल्ली स्थित मुख्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन किया जाएगा और 30 मार्च से आम हड़ताल कर दी जाएगी।

You might also like