जमानत न मिली तो ही करेंगे सरेंडर

NEWSशिमला — अब हाई कोर्ट में नरवीर हत्याकांड के आरोपियों की जमानत याचिका के फैसले पर ही पुलिस के पास सरेंडर करेंगे। नरवीर हत्याकांड में गिरफ्तार आठ आरोपियों ने उच्च न्यायालय में जमानत लगा रखी है, जिसकी सुनवाई चार मई को होगी। उच्च न्यायालय से अगर आरोपियों को जमानत नहीं मिली तो हत्याकांड में नामजद कुछेक आरोपी पुलिस के पास सरेंडर कर देंगे। अगर उच्च न्यायालय से जमानत मिल गई तो कोई भी आरेपी सरेंडर नहीं करेगा। नरवीर हत्याकांड मामले में तुईल गांव के लोगों ने यह फैसला पुलिस को बता दिया है। गांव के बिगड़े हालात को देखते हुए शुक्रवार को डीएसपी व एसडीएम तुईल गांव का दौरा करेंगे। डीएसपी व एसडीएम हत्याकांड के बाद तुईल गांव में गहराए विवाद को लेकर दोनों पक्षों के बीच समझौता करने का भी प्रयास करेंगे। नरवीर हत्याकांड में 41 लोग आरोपी बनाए गए हैं, जिनके नाम एफआईआर में भी नामजद हैं। कत्ल का मामला दर्ज करने के बाद पुलिस अभी तक एफआईआर में नामजद 19 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। 22 आरोपी की अभी गिरफ्तारी करनी रह गई है। पुलिस का मानना है कि हस हत्याकंड में पुलिस 32 लोगों की ही गिरफ्तारी कर सकती है। चूंकि कुछ ऐसे लोग भी हत्याकांड में नामजद किए गए हैं, जिनका नरवीर हत्या से कोई लेना-देना नहीं है। यहां बताते चले कि 11 मार्च को चौपाल के तुईल गांव में दोहरा हत्याकांड पेश आया था। शादी समारोह के दौरान पहले नरवीर ने भरत भूषण की गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी। इसके कुछ ही घंटों के बाद हत्या के आरोपी नरवीर को दूसरे पक्ष के लोगों ने घर में घुस कर पीट-पीटकर मार दिया था। पुलिस ने 41 लोगों पर कत्ल का मामला दर्ज किया था।

देवी के दरबार में लगा रहे हाजिरियां

पुलिस का कहना है कि हत्याकांड के बाद से गांव का माहौल बिगड़ा हुआ है। दोनों ही पक्षों के लोग देवी के दरबार में जाकर अर्ज कर रहे हैं।

You might also like