डेढ़ दर्जन हलकों में कांग्रेस पिछड़ी

शिमला— सीपीएस राजेश धर्माणी ने कांग्रेस हाइकमान को पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि हमीरपुर संसदीय क्षेत्र, नालागढ़, अर्की और सरकाघाट व कुछ अन्य चुनाव हलकों में भाजपा की स्थिति लगातार मजबूत हो रही है।  ऐसा इसलिए है, क्योंकि इन्हीं क्षेत्रों से भाजपा के दिग्गज नेता पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. धूमल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा, मौजूदा सांसद अनुराग ठाकुर संबंध रखते हैं। पिछले कई चुनावों से भाजपा के इन क्षेत्रों से 18 में से 14 विधायक जीत कर विधानसभा पहुंच रहे हैं। भाजपा की लगातार होती मजबूत स्थिति इस क्षेत्र में कांग्रेस के लिए एक चुनौती बनी है। इसकी काट के लिए यह आवश्यक होगा कि सरकार में इन क्षेत्रों से प्रभावी प्रतिनिधित्व हों।  सूत्रों के मुताबिक इस पत्र में उन्होंने तीन विधानसभा चुनावों का जिक्र किया है और आग्रह किया है कि हाइकमान के इस संदर्भ में दिशा-निर्देश प्रभावी साबित हो सकते हैं। जानकारी मिली है कि सीपीएस राजेश धर्माणी ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से भी यह मामला पूर्व में उठाया था। उनके समक्ष भी यही मुद्दे उठाए गए थे, जिनका जिक्र अब उन्होंने हाइकमान को लिखे पत्र में किया है। सही मायने में हमीरपुर संसदीय क्षेत्र व संबंधित अन्य इलाकों में कांग्रेस की स्थिति सही नहीं है। भले ही बीते लोकसभा चुनावों में मोदी लहर में कइयों की नैया तैर गई, मगर पिछले चुनावों पर भी गौर करें तो इन इलाकों में भाजपा के आगे कांग्रेस की स्थिति सही नहीं दिखती।  बहरहाल, पिछले कुछ अरसे से जहां मंत्रिमंडल में फेरबदल की चर्चाएं गर्म हैं, वहीं खाली मंत्रीपद भरने के लिए भी कवायद जारी है। ऐसे में इस बड़े हलके का दावा अब क्या गुल खिलाएगा, देखने वाली बात होगी।  वह भी ऐसे में जब मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह पिछले दो दिनों से आलाकमान में केंद्रीय नेताओं से भी बैठकें कर रहे हैं।

पटेल, वोहरा व फर्नांडीस से मिले सीएम

बुधवार को मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने दिल्ली में सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल और अन्य केंद्रीय नेताओं ऑस्कर फर्नांडिस, मोती लाल वोहरा सहित अंबिका सोनी, जो प्रदेश पार्टी मामलों की प्रभारी भी हैं, उनसे बैठकें की हैं। सूत्रों का दावा है कि इस दौरान प्रदेश कांग्रेस से जुड़े मसलों पर गहन चर्चा हुई।

You might also like