दिव्य पाठ से मिटेंगे मांगलिक दोष

By: May 4th, 2015 12:01 am

मंडी —  मां मंगला काली की साक्षात शक्ति के प्रतीक दैवीय पाठ से हर प्रकार की बाधाएं दूर हो जाती हैं और व्यक्ति की समस्त मनोकामनाएं निश्चित रूप से पूर्ण होती हैं। यह कथन साक्षात भगवान शिव का है। यह उद्गार ब्रह्मर्षि श्री कुमार स्वामी जी ने पड्डल ग्राउंड में आयोजित प्रभु कृपा दुख निवारण समागम के दूसरे दिन व्यक्त किए। समागम के दूसरे दिन ब्रह्मर्षि श्री कुमार स्वामी जी की कृपा ग्रहण करने के लिए प्रदेश भर के साथ ही अन्य राज्यों से हजारों श्रद्धालु उमडे़ और पड्डल मैदान पूरी तरह से भरा रहा। समागम के दूसरे दिन प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने भी शिरकत की और आशीर्वाद प्राप्त किया। समागम में ब्रह्मर्षि श्री कुमार स्वामी जी ने पहली बार मां मंगला काली के अद्भुत रहस्य प्रदान किए। परम पूज्य ब्रह्मर्षि श्री कुमार स्वामी जी ने कहा कि कुंडली में मांगलिक दोष होने के कारण पति-पत्नी में अनेक प्रकार का तनाव रहता है। विवाह में देरी होती है अथवा दांपत्य जीवन सुखी नहीं रहता। इस दोष का उपाय न होने के कारण व्यक्ति जीवनभर दुखों और कष्टों से ग्रस्त रहता है और संकटपूर्ण जीवन जीने को मजबूर हो जाता है। ब्रह्मर्षि श्री कुमार स्वामी जी ने कहा कि समागम में प्रदान किए जाने वाले अद्भुत प्रारूप से यह दोष पूर्णतया समाप्त हो जाएगा और व्यक्ति हर प्रकार के सुखों को ग्रहण करने का अधिकारी बन जाएगा। यह विधान पूर्णतया शास्त्रोक्त है और इसमें तनिक भी संदेह नहीं है। उन्होंने कहा कि एक समय वह भी वैज्ञानिक प्रारूप के थे और प्रभु कृपा नाम पाठ को नहीं मानते थे, मगर जब उन्होंने साक्षात इस प्रारूप के अनुभव देखे तो वह भी हैरान रह गए। आज पूरी दुनिया में करोड़ों लोग दिव्य पाठ कर रहे हैं और अपने असाध्य कष्टों से मुक्ति पा रहे हैं। वैज्ञानिक जगत ने भी तथ्यगत अनुभवों को देखकर दिव्य पाठ की शक्ति को स्वीकार कर लिया है।

Himachal List

Free Classified Advertisements

Property

Land
Buy Land | Sell Land

House | Apartment
Buy / Rent | Sell / Rent

Shop | Office | Factory
Buy / Rent | Sell / Rent

Vehicles

Car | SUV
Buy | Sell

Truck | Bus
Buy | Sell

Two Wheeler
Buy | Sell

Polls

क्या बार्डर और स्कूल खोलने के बाद अर्थव्यवस्था से पुनरुद्धार के लिए और कदम उठाने चाहिए?

View Results

Loading ... Loading ...

Miss Himachal Himachal ki Awaz Dance Himachal Dance Mr. Himachal Epaper Mrs. Himachal Competition Review Astha Divya Himachal TV