धर्मशाला प्रकरण जांचेगी एसआईटी

NEWSधर्मशाला— धर्मशाला दुराचार प्रकरण की सच्चाई जानने के लिए पुलिस ने एसआईटी टीम का गठन किया है। मामले पर पुलिस ने जहां कालेज प्राचार्य के बयान पर एफआईआर दर्ज कर ली है, वहीं घटना की सही सूचना देने वाले को 25 हजार रुपए देने का ऐलान भी किया है। सारे मामले को जांचने के लिए पुलिस के एडीजीपी ला एंड आर्डर संजय कुंडू गुरुवार को धर्मशाला पहुंचेंगे। पुलिस ने आईजीपी रेंज धर्मशाला के नेतृत्व में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज कुमार और शालिनी अग्निहोत्री को एसआईटी टीम में शामिल किया है। कथित धर्मशाला दुराचार प्रकरण में कोई भी तथ्य न मिलने के बावजूद आग की तरह फैली घटना पर पुलिस ने कालेज प्राचार्य आरपी चोपड़ा के बयान पर बुधवार को धर्मशाला पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज कर ली है। पुलिस ने मामला दर्ज कर हर पहलू को खंगालने के लिए फोरेंसिक साइंस लैब और साइबर सैल को भी इसके साथ जोड़ा है, जिससे मामले की तह तक पहुंचा जा सके। मामले की बढ़ती हदों को देखते हुए पुलिस के उच्च अधिकारी संजय कुंडू धर्मशाला पहुंच कर मामले से जुड़े पहलुओं का अध्ययन करेंगे। कई दिन बीत जाने के बावजूद अभी तक तथ्य सामने न आने पर पुलिस ने इस घटना से जुड़ी जानकारी देने वालों को 25 हजार रुपए इनाम देने का ऐलान किया है। इतना ही नहीं, इस मामले से जुड़े तथ्य देने वाले व्यक्ति का नाम गोपनीय रखने को भी कहा गया है, जिससे कोई भी व्यक्ति बिना झिझक के सामने आ सके। वहीं, कालेज में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को भी खंगाला जा रहा है। करीब 200 जीबी से भी अधिक फुटेज में एक-एक व्यक्ति और हर घटना को देखा जा रहा है। उधर, पुलिस अधीक्षक कपिल शर्मा ने पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस ने प्रिंसीपल के बयान के आधार पर आईपीसी की धारा 354,509 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। वहीं, सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है।

You might also like