आमिर का यू-टर्न

(डा. शिबन कृष्ण रैणा (ई-मेल के मार्फत))

अपने विवादित बयान पर टिप्पणी करते हुए आमिर खान का ताजा बयान यह आया है कि वह देश नहीं छोड़ेंगे, मगर वह अपने पूर्व के बयान पर कायम हैं। ठीक है अगर देश नहीं छाड़ेंगे तो फिर ‘डर’ का हवाला देकर देश छोड़ने का डर किसको दिखा रहे थे? कहीं इसके जरिए वह उस सोची-समझी साजिश का हिस्सा तो नहीं बन गए थे, जो भारत की छवि को वैश्विक स्तर पर धूमिल करने में सक्रिय है। अगर वास्तव में ऐसा है, तो यह उससे भी दुखद माना जाएगा। एक बात और कि आमिर या शाहरुख सरीखी हस्तियों को एहसास होना चाहिए कि वे जो भी बयान देते हैं, उसके मायने व्यापक हैं, क्योंकि उससे उनको चाहने वाला एक बड़ा वर्ग प्रभावित होता है। फिर भी स्पष्टीकरण से साबित हो गया कि नौटंकीबाज और अभिनेता शायद एक ही चीज होते हैं।

 

You might also like