लाइब्रेरी साइंस में करियर खोलें समृद्धि की किताब

Jul 27th, 2016 12:20 am

cereerलाइब्रेरी साइंस में सिर्फ  सूचनाओं के व्यवस्थित संग्रह पर ही ध्यान नहीं दिया जाता है बल्कि सूचनाओं को इस प्रकार संग्रह किया जाता है कि जरूरत पड़ने पर उन सूचनाओं को पलक झपकते ही उपयोग में लाया जा सके। तकनीकी विकास के साथ ही लाइब्रेरी में संगृहीतकी जाने वाली सूचनाओं का स्वरूप भी बदला है। लाइब्रेरी में पुस्तकों के अलावा अब सीडी, डीवीडी और डिस्क आदि भी रखी जाने लगी हैं…

वैश्वीकरण के इस दौर में स्कूल हो या कालेज या फिर विश्वविद्यालय, सभी शिक्षण संस्थानों में लाइब्रेरी की आवश्यकता है। छात्र से लेकर प्रोफेसर, यहां तक कि आम व्यक्ति भी अपने ज्ञान को और अधिक विस्तृत करने के लिए पुस्तकालय में बैठना पसंद करता है। पुस्तकालय एक ऐसा स्थान हैए जहां समाचार पत्र-पत्रिकाओं से लेकर नामचीन लेखकों की किताबें आसानी से सुलभ हो जाती हैं। यही कारण है कि पुस्तकालयों की संख्या में दिन-प्रतिदिन इजाफा हो रहा है और अब इसकी पहचान एक पूर्ण नॉलेज सेंटर के रूप में होने लगी है। लाइब्रेरी साइंस में सिर्फ  सूचनाओं के व्यवस्थित संग्रह पर ही ध्यान नहीं दिया जाता है बल्कि सूचनाओं को इस प्रकार संग्रह किया जाता है कि जरूरत पड़ने पर उन सूचनाओं को पलक झपकते ही उपयोग में लाया जा सके। तकनीकी विकास के साथ ही लाइब्रेरी में संगृहीत की जाने वाली सूचनाओं का स्वरूप भी बदला है। लाइब्रेरी में पुस्तकों के अलावा सीडी, डीवीडी और डिस्क आदि भी रखी जाने लगी हैं। इनको भी बिलकुल पुस्तकों की तरह ही व्यवस्थित तरीके से संग्रह करना पड़ता है, जो सिर्फ  प्रशिक्षित व्यक्ति ही कर सकते हैं। आजकल तो डिजिटल तथा ऑनलाइन लाइब्रेरी का प्रचलन भी काफी बढ़ा है। सूचना क्रांति के इस दौर में लाइब्रेरी भी कम्प्यूटरों के प्रयोग से अछूती नहीं है।

शैक्षणिक योग्यता

बैचलर ऑफ  लाइब्रेरी साइंस कोर्स करने के लिए किसी मान्यता प्राप्त संस्थान या विश्वविद्यालय से स्नातक होना जरूरी है, जबकि डिप्लोमा कोर्स करने के लिए 12वीं उत्तीर्ण होना जरूरी है।

लाइब्रेरियन के कार्य

लाइब्रेरी से संबंधित कर्मचारियों का मुख्य कार्य सामग्री को संगठित करनाए लोगों को उसे प्रभावी तरीके से प्रयोग करने में सहायता करना तथा सही व्यक्ति को सही समय पर सही सूचना प्रदान करना होता है। लाइब्रेरी साइंस के कार्य को मुख्यतया तीन भागों में बांटा जा सकता है। पाठकों को सामान्य सेवाएं देना जैसे कि पुस्तकों का आदान.प्रदान करनाए तकनीकी कार्य करना जैसे कि पुस्तकों की सूची बनाना या एंट्री करना तथा प्रशासनिक कार्य जैसे कि लाइब्रेरी संबंधित कामकाज को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क बनाए रखना या नई पुस्तकों की खरीददारी आदि करना।

वेतनमान

लाइब्रेरी असिस्टेंट या टेक्निकल असिस्टेंट का शुरुआती वेतनमान दस हजार रुपए प्रति माह से ऊपर होता है। विश्वविद्यालयों या समकक्ष शैक्षणिक संस्थानों में असिस्टेंट लाइब्रेरियन के रूप में नियुक्त हो जाने पर वेतनमान और अधिक बढ़ जाता है।

क्या है लाइब्रेरी साइंस

इस विषय के तहत मुख्य रूप से किताबों, संदर्भ ग्रंथों, पत्रिकाओं और अखबारों को व्यवस्थित ढंग से रखने और लंबे अरसे तक सुरक्षित ढंग से सहेजने के बारे में जानकारी दी जाती है। बड़ी संख्या में उपलब्ध ज्ञान और सूचनापरक सामग्रियों, किताब, पत्रिका को एक निश्चितक्रम में वगीकृत करने के लिए लाइब्रेरी साइंस वैज्ञानिक विधियों और तकनीकों का सहारा लेती है। लाइब्रेरी की व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने और उसे अधिक उपयोगी बनाने का काम लाइब्रेरियन का होता है।

संभावनाएं

वर्तमान समय में अधिकांश पुस्तकालयों ने खुद को वीडियो लाइब्रेरी, कैसेट सीडी लाइब्रेरी, कम्प्यूटर लाइब्रेरी, इंटरनेट लाइब्रेरी, फोटो लाइब्रेरी आदि रूपों में सुसज्जित कर लिया है। इनकों संभालने के लिए काफी संख्या में ट्रेंड प्रोफेशनल्ज की जरूरत है और इसके कारण करियर की संभावनाएं बढ़ रही हैं। इसके अतिरिक्त कारपोरेट कंपनियां भी अपने यहां लाइब्रेरी को प्रोमोट कर रही हैं और संबंधित स्टाफ  को आकर्षक वेतनमान दे रही हैं। स्कूलों, कालेजों, विश्वविद्यालयों तथा अन्य शैक्षणिक संस्थानों में लाइब्रेरी साइंस का कोर्स किए हुए लोगों के लिए रोजगार की अपार संभावनाएं  हैं।

विभिन्न कोर्सेज

*  सर्टिफिकेट कोर्स इन लाइब्रेरी साइंस

*  सर्टिफिकेट इन आईसीटी एप्लिकेशन इन लाइब्रेरी

*  सर्टिफिकेट कोर्स इन लाइब्रेरी एंड इन्फार्मेशन साइंस

*  डिप्लोमा कोर्स इन लाइब्रेरी साइंस

*  डिप्लोमा इन लाइब्रेरी एंड इन्फार्मेशन साइंस

*  बैचलर ऑफ  लाइब्रेरी एंड इन्फार्मेशन

*  मास्टर ऑफ  लाइब्रेरी साइंस

*  पीजी डिप्लोमा इन लाइब्रेरी ऑटोमेशन एंड नेटवर्किंग

स्पेशलाइजेशन के विषय

*  इन्फार्मेशन आर्किटेक्चर इंडेक्सिंग

*  इन्फार्मेशन ब्रोकर

*  आर्काइविंग एब्सट्रेक्टर्स

*  मेटाडेटा मैनेजमेंट कैटालॉगिंग

*  मेटाडेटा आर्किटेक्चर कम्प्यूटर

*  डेटा एंड इन्फार्मेशन सिस्टम

*  प्रिजर्वेशन एडमिनिस्ट्रेशन एंड कंजरवेशन

प्रमुख शिक्षण संस्थान

*  सेंट्रल यूनिवर्सिटी हिमाचल प्रदेश,शाहपुर

*  नागपुर यूनिवर्सिटी, नागपुर

*  इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, दिल्ली

*  गुरु नानक देव विश्वविद्यालय, अमृतसर

*  जम्मू विश्वविद्यालय, जम्मू

*  पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़

*  बुंदेलखंड विश्वविद्यालय, झांसी

*  बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, बनारस

बिजनेस कोर्स है लाइब्रेरी साइंस

लाइब्रेरी साइंस केवल एक सब्जेक्ट ही नहीं रह गया बल्कि यह एक बिजनेस कोर्स भी बन गया है। तेजी से बढ़ते इस पेशे की मांग को देखते हुए कई इंस्टीच्यूट्स ने अपने लाइब्रेरी साइंस के कोर्स के मॉड्यूल में बदलाव किए हैं।

जल्द ही बदलेगा नाम

लाइब्रेरी साइंस में बढ़ते अवसरों को देखते हुए विदेशी विश्वविद्यालयों ने इस कोर्स का नाम बदलकर इन्फार्मेशन साइंस रख दिया है। भारत में यूजीसी ने अभी तक इसे एडॉप्ट नहीं किया है, लेकिन जल्द ही इंडियन यूनिवर्सिटीज में भी लाइब्रेरी साइंस को इन्फार्मेशन साइंस के नाम से जाना जाएगा।

Himachal List

Free Classified Advertisements

Property

Land
Buy Land | Sell Land

House | Apartment
Buy / Rent | Sell / Rent

Shop | Office | Factory
Buy / Rent | Sell / Rent

Vehicles

Car | SUV
Buy | Sell

Truck | Bus
Buy | Sell

Two Wheeler
Buy | Sell

Polls

क्या हिमाचल कैबिनेट के विस्तार और विभागों के आबंटन से आप संतुष्ट हैं?

View Results

Loading ... Loading ...

Miss Himachal Himachal ki Awaz Dance Himachal Dance Mr. Himachal Epaper Mrs. Himachal Competition Review Astha Divya Himachal TV