महाराष्ट्र में औरंगाबाद के नजदीक दौलताबाद से 11 किलोमीटर दूर घृष्णेश्वर महादेव का मंदिर स्थित है। यह बारह ज्योतिर्लिंगों में...

हिमाचल में वर्ष भर मनाए जाने वाले असंख्य मेलों की शृंखला में सबसे लंबे समय अर्थात दो मास तक मनाए...

भारत के ऐसे अनेकों धार्मिक स्थान हैं, जहां रामायण से जुड़े कई अंश मिले हैं। भगवान राम के पिता राजा...

हिमाचल प्रदेश के ऐसे सभी स्थल हैं, जो किसी न किसी रूप में विख्यात हैं, जहां से लाखों लोगों की...

Rajendra Palampuri (The writer is a retired education officer based in Manali) We are becoming careless today because of availability...

वृक्ष पर्यावरण के नीलकंठ हैं। ये प्रदूषण के हलाहल को पीकर प्राण वायु रूपी अमृत से पर्यावरण को पोषित करते...

ब्रह्म तद् वनमं, ब्रह्म सा वृक्षःअसा ।।                  (ऋग्वेद, 10/81/4) वन ब्रह्म हैं, वृक्ष भी ब्रह्म है। दशकूपसमा वापी दशवापीसमो...

देवताओं ने अपनी शक्ति और विशेषताओं का समन्वय करके  एक वृक्ष का निर्माण किया। यह वृक्ष देवदार था। कई संदर्भों...

Flourishing DrugTrade in Himachal This is regarding Himachal This Week’s cover story of July 16, 2016, “Flourishing Drug Trade in...

Himachal This Week The meeting of state Bharatiya Janata party’s extended core group is scheduled on July 30 and 31...