काले बिल्ले लगाएंगे बीडीओ

कार्ययोजना बनाने के लिए संघों को विश्वास में न लेने का आरोप

news `बिलासपुर-हमीरपुर —  हिमाचल प्रदेश खंड विकास अधिकारी 29 दिसंबर (गुरुवार) से काले बिल्ले लगाकर काम करेंगे। ग्रामीण विकास विभाग के कर्मचारियों का पंचायती राज विभाग में एकतरफा विलय करने की कार्ययोजना बनाने में विभाग के सभी संघों को विश्वास में न लेने से खफा सदस्यों ने यह ऐलान किया है। यह जानकारी संघ के अध्यक्ष सुभाष गौतम ने दी। संघ ने चेतावनी दी है कि अब भी मांगें पूरी नहीं की गईं, तो और उग्र आंदोलन किया जाएगा। मिशन मनरेगा, आवास बंद करने सहित सामूहिक अवकाश पर भी विचार किया जाएगा। खंड विकास अधिकारी संघ का आरोप है कि इस बाबत कई बार ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री, सचिव ग्रामीण विकास एवं निदेशक ग्रामीण विकास को इस बारे अवगत करवाता रहा है कि विलय संबंधी कोई भी निर्णय समस्त संघों को विश्वास में लेकर व चर्चा के उपरांत ही किया जाए। पंचायती राज में विलय व तकनीकी विंग का पंचायती राज में गठन बारे ग्रामीण विकास विभाग के समस्त संघों पंचायत सचिव संघ, एईबीपीओ संघ व मिनिस्ट्रियल स्टाफ संघ ने भी इसका पुरजोर विरोध किया है। संघ के अध्यक्ष सुभाष गौतम व महासचिव मुनीष कुमार शर्मा संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि कुछ वर्षों से पंचायती राज विभाग के कुछ अधिकारी, उच्चाधिकारियों एवं राजनेताओं को गुमराह कर ग्रामीण विकास विभाग को कमजोर बनाने में प्रयासरत है। संघ की मांग है कि इस पर उचित निर्णय लिया जाए।

संघ की ये मांगें पूरी करें

समस्त पंचायत सचिवों एवं सहायकों को ग्रामीण विकास विभाग के तहत लाना, ग्रामीण विकास विभाग के तहत तकनीकी विंग का गठन, खंड  विकास अधिकारी और जिला ग्रामीण विकास अभिकरणों को प्रभावी नियंत्रण देना, जिला स्तर पर जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के पास प्रभावी नियंत्रण होना, विभाग के आदेश/अधिसूचना दिनांक 15 मार्च, 2016 को यथोचित संशोधित करना, प्रशासनिक संस्थान में कोर फैकल्टी के पद खंड विकास अधिकारी से भरना आदि।

You might also like