भाजपा को बेनकाब करने की तैयारी

By: Jan 3rd, 2017 12:01 am

चार्जशीट के बाद भाजपाइयों के काले चिट्ठे ढूंढने में जुटा कांग्रेस का एक संगठन

शिमला – भाजपा द्वारा कांग्रेस सरकार के खिलाफ चार्जशीट देने के बाद गरमाई सियासत के बीच बेशक कांग्रेस के नेता चुप्पी साधकर बैठ गए हैं, परंतु कांग्रेस का एक कुनबा अंदरखाते पलटवार की तैयारी में है। सूत्रों के अनुसार संगठन के लोग इस काम में जुटे हैं कि किस तरह भाजपा के नेताओं को बेनकाब किया जाए। उनकी चार्जशीट के बदले उनके खुलासे करके मुंहतोड़ जवाब दिया जाए। बताया जाता है कि जल्दी ही कांग्रेस, भाजपा के नेताओं के काले चिट्ठे सामने लाएगी, जिसका ऐलान खुद पार्टी के अध्यक्ष सुक्खू ने किया है। कांग्रेस नेताओं ने सभी जिलों में नोटबंदी से पहले भाजपा नेताओं द्वारा की गई खरीद-फरोख्त के सुबूत तलाशने शुरू कर दिए हैं। भाजपा से जुड़े विधायकों की कारगुजारियों पर नजर रखे हुए हैं। इस सिलसिले में कांग्रेस अपने नेताओं से ऐसे मामलों को उजागर करने को बोल चुकी है। एक तरह से कांग्रेस भी भाजपा के नेताओं पर चार्जशीट जैसा ही कुछ करने की सोच रही है, ताकि प्रदेश में बने सियासी माहौल में दोनों तरफ मुकाबला बराबरी का हो। पांच जनवरी को कांग्रेस की पार्टी बैठक शिमला में होने जा रही है और उस बैठक में सभी जिलाध्यक्षों व ब्लॉक पर्यवेक्षकों के साथ पदाधिकारियों को बुलाया गया है। बैठक में ऐसे मामलों पर चर्चा होगी, जो कि भाजपा के नेताओं से जुड़े हुए हैं। आने वाले दिनों में एक के बाद एक कुछ खुलासे कांग्रेस करने की तैयारी में है, जिसके लिए तैयारी शुरू हो चुकी है। नोटबंदी से पहले भाजपा ने तीन जगहों पर कार्यालयों के लिए ली गई जमीन का मामला प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष ने उठाया है, जिसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि वह आने वाले दिनों में खुलासे करेंगे, जिसका काम चल रहा है। नए साल में चुनावों को ध्यान में रखकर अब राजनीतिक दलों की बड़ी लड़ाई शुरू होने वाली है। मुद्दों से हटकर दोनों दल एक-दूसरे के काले चिट्ठे निकालने को आतुर रहेंगे।

अब देखते हैं

भाजपा ने कांग्रेस सरकार के कई मंत्रियों पर कथित आरोप लगाए हैं, जिस पर सभी लोग चुप्पी साधे बैठे हैं। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पर भी आरोप लगाए गए हैं और सभी लोग भाजपा को शपथ पत्र देकर लोकायुक्त के पास जाने की बात कह रहे हैं। अब देखना होगा कि कांग्रेस पलटवार में किसकी घेराबंदी करती है और किस तरह के कारनामों को सामने लाती है। इससे अगले कुछ दिनों में सियासत जरूर चरम पर रहेगी।