कोर्स के बाद जॉब 16 जून से दाखिला

newsशिमला —  प्रदेश के कालेजों में इस सत्र रूसा के साथ ही छात्र बी-वॉक कोर्स में प्रवेश के लिए भी तैयार रहें। जो भी छात्र जमा दो के बाद कालेज में प्रवेश लेने की तैयारी में है, इन छात्रों के पास इस बार कालेजों में बी-वॉक कोर्स का भी विकल्प है। प्रदेश में 16 जून से रूसा के साथ-साथ 12 कालेजों में बी-वॉक कोर्स में भी प्रवेश प्रक्रिया शुरू की जानी है। इन कोर्सिस में छात्रों को प्रवेश जमा दो की मैरिट के आधार पर दिया जाएगा। कोर्स की अवधि के दौरान ही छात्रों को रोजगार के लिए भी कालेज तैयार करेंगे। इसके लिए एचपीयू की ओर से बी-वॉक कोर्स के लिए पूरा फार्मेट उसी के आधार पर तैयार किया गया है। एचपीयू ने वोकेशनल कोर्स के लिए सिलेबस और कोर्स फार्मेट में कोर्स प्रशिक्षण शामिल किया है। इसमें विवि प्रशासन की ओर से कोर्स में छह सेमेस्टरों के सिलेबस, परीक्षाओं के फार्मेट और कितने के्रडिट छात्रों को किस विषय में दिए जाने हैं, इसे लेकर एक पूरा फार्मेट पहले से ही तैयार रखा है। विवि ने कोर्स फार्मेट में बी-वॉक के तहत डिग्री कर रहे छात्रों के लिए कोर्स के दौरान उद्योग प्रशिक्षण करवाने का भी प्रावधान रखा है। छात्र को हर एक सेमेस्टर में कक्षाएं लगानी होंगी। इसके साथ ही थ्योरी का ज्ञान लेने के साथ ही छात्रों में कोर्स से जुड़े स्किल को बढ़ावा देने के लिए हर सेमेस्टर में ट्र्रेनिंग करवाना भी कोर्स का ही हिस्सा होगा। विवि ने बी-वॉक कोर्स के लिए थ्योरी के साथ ही इंड्रस्ट्रियल ट्रेनिंग और प्रोजेक्ट वर्क को शामिल किया गया है। छात्र को थ्योरी की परीक्षाओं के साथ ही ट्रेनिंग और प्रोजेक्ट वर्क के भी ग्रेड शामिल किए जाएंगे। कोर्स के दौरान ही छात्रों को मिलने वाली ट्रेनिंग छात्रों को कोर्स के बाद सीधा रोजगार दिलवाने में मददगार होगी। छात्रों को रोजगार दिलवाने में कौशल विकास निगम भूमिका निभाएगा। कोर्स में एक सेमेस्टर में 90 दिन कक्षाओं के लिए निर्धारित हैं। इसके बाद परीक्षाएं होंगी, जिसके बाद छात्र को कोर्स ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा। इस सत्र से वर्ष 2017-18 में 12 कालेजों में रिटेल मैनेजमेंट एंड टूरिज्म, हास्पिटेलिटी ट्रेड में बी-वॉक कोर्स शुरू किए जा रहे हैं।
एक में 35 छात्र जरूरी
बी-वॉक कोर्स के दो ट्रेड में कालेजों को 40-40 सीटें दी निर्धारित की गई हैं। कालेज में एक कोर्स में 35 छात्रों का प्रवेश लेना अनिवार्य है। पिछले साल यह संख्या केवल सात या आठ छात्रों तक ही सिमटी रही, जिस वजह से कोर्स शुरू नहीं हो पाए।
ये कालेज चलाएंगे कोर्स
प्रदेश में इस सत्र 2017-18 में 12 कालेजों में रिटेल मैनेजमेंट एंड टूरिज्म, हास्पिटेलिटी ट्रेड में बी-वॉक कोर्स शुरू किए जा रहे हैं। इस सत्र से सेंटर फॅार एक्सीलेंस कालेज संजौली शिमला, रामपुर कालेज, डिग्री कालेज बिलासपुर, चंबा, हमीरपुर, ढलियारा, कुल्लू, मंडी, नाहन, सोलन, धर्मशाला और ऊना कालेज में बी-वॉक कोर्स शुरू हो रहे हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें !

 

You might also like