डेंगू; स्क्रब टायफस, टीबी पर अलर्ट

मौसमी बीमारियों से निपटने को चलेगा सफाई अभियान

newsशिमला— हिमाचल में मौसमी बीमारियों का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। बरसात शुरू हो चुकी है और बरसात में अकसर स्क्रब टायफस का कहर बढ़ जाता है। इसे देखते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की ओर से अलर्ट जारी कर दिया गया है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक पंकज राय ने कहा कि स्क्रब टायफस और डेंगू को लेकर विशेष जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत सभी उपायुक्तों और सीएमओ को निर्देश जारी किए गए हैं कि इन रोगों के बारे में जागरूकता फैलाएं। जुलाई में सभी स्वास्थ्य संस्थानों में विशेष सफाई अभियान चलाया जएगा। इसके अलावा 104 नंबर पर भी स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में जानकारी और शिकायत दे सकते हैं। बीमारियों से निपटने के निर्देश भी सभी सीएमओ और बीएमओ को जारी किए गए हैं। एनएचएम की ओर से जारी निर्देशों में कहा गया कि जिला से लेकर ब्लॉक स्तर पर सभी चिकित्सा अधिकारी लोगों को बरसात में होने वाली संभावित बीमारियों खासकर स्वाइन फ्लू के बारे में जागरूक करें और इससे बचाव के तरीके भी लोगों को बताएं। तैयारियों की समीक्षा के लिए प्रधान सचिव स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बुधवार को बैठक करेंगे। मौसम बदलने पर जुकाम और बुखार होना आम बात हैं, लेकिन प्रदेश में स्वाइन फ्लू के मामलों को देखते हुए बुखार होने पर चैकअप करवाना बेहतर है।

अब तक स्क्रब टायफस के 27 केस

प्रदेश में अभी तक करीब एक हजार टेस्ट स्क्रब टायफस के किए गए हैं और इनमें से 27 पॉजिटिव पाए गए हैं। स्क्रब टायफस के लक्षण हैं जैसे तेज बुखार जो 104 और 105 डिग्री तक जा सकता है। कंपकंपी के साथ बुखार और अकड़न, शरीर का टूटा हुआ लगना। डेंगू का कोई मामला इस समय सामने नहीं आया है, लेकिन जुलाई से बरसातों के चलते डेंगू की संभावना बढ़ जाती है। डेंगू का मच्छर रुके हुए साफ या धीरे-धीरे बहने वाले पानी में पनपता है।

भारत मैट्रीमोनी पर अपना सही संगी चुनें – निःशुल्क रजिस्टर करें !

You might also like