कर्मचारियों पर संकट के बादल!

लाहुल के सस्पेंडेड 22 पुलिस-होमगार्ड्स जवानों के मामले की जांच शुरू

newsकेलांग —  जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के अभी कई अधिकारी व कर्मचारी लपेटे में आएंगे। लाहुल-स्पीति जिला में सस्पेंड हुए 22 पुलिस कर्मियों और होमगार्ड्स के जवानों के मामले की प्राथमिक जांच पुलिस के उच्चाधिकारियों ने तेज कर दी है। वहीं, प्राथमिक जांच में चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। पुलिस अधीक्षक लाहुल एवं स्पीति गौरव सिंह ने स्पष्ट कर दिया है कि भ्रष्ट पुलिस कर्मियों को हरगिज भी नहीं बख्शा जाएगा। अभी पुलिस के कई अन्य अफसरों पर भी इसकी गाज गिर सकती है। इस मामले में बैठी उच्च स्तरीय जांच तेज शुरू हो गई है। वहीं, जल्द ही पुलिस के इन कर्मचारियों के खिलाफ जांच कर चार्जशीट दायर की जाएगी। सस्पेंड हुए अधिकारी व कर्मचारी पुलिस लाइन केलांग के भी हैं। वहीं, उनकी जगह पर अन्य पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को भेज दिया गया है।  उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक लाहुल एवं स्पीति ने ड्यूटी में कोताही बरतने पर कड़ा फैसला लेते हुए कोकसर पुलिस पोस्ट के साथ-साथ दारचा व सरचू चौकी में तैनात 22 पुलिस कर्मियों व गृहरक्षकों को निलंबित किया था। जानकारी के अनुसार सेना की ओर से की गई शिकायत के बाद इन पुलिस वालों पर यह गाज गिरी है। हालांकि पुलिस अधीक्षक ने यह भी साफ कर दिया है कि जांच पूरी होने के बाद भ्रष्ट पुलिस कर्मचारियों को बर्खास्त भी किया जा सकता है। गौर हो कि एक तरफ शिमला में कोटखाई प्रकरण को लेकर पुलिस की चारों तरफ बदनामी हो रही है। वहीं, दूसरी ओर लाहुल-स्पीति पुलिस के भ्रष्ट कर्मचारियों व अधिकारियों को जिस तरह से पुलिस अधीक्षक ने निलंबित किया है, उससे लाहुल-स्पीति के पुलिस अधीक्षक की प्रदेश भर में तारीफ भी हो रही है। उधर, पुलिस अधीक्षक लाहुल एवं स्पीति गौरव सिंह ने बताया कि सस्पेंड हुए कर्मचारियों के संबंध में जांच तेज कर दी गई है। जल्द ही चार्जशीट दायर की जाएगी। अभी कई अन्य पुलिस कर्मचारी भी लपेटे में आ सकते हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

You might also like