नौणी यूनिवर्सिटी टॉप-25 से बाहर

By: Jul 19th, 2017 12:01 am

आईसीएआर की रैंकिंग में नहीं मिल पाई जगह, पहले चौथे नंबर पर था विश्वविद्यालय

नौणी – इंडियन काउंसिल ऑफ एग्रीकल्चर रिसर्च (आईसीएआर) की टॉप-25 विश्वविद्यालयों की सूची से डा. वाईएस परमार विश्वविद्यालय बाहर हो गया है। नौणी विवि पहले इस सूची में चौथे स्थान पर था। टॉप लिस्ट से बाहर होने के बाद विवि को मिलने वाली आईसीएआर ग्रांट पर भी कट लग सकता है। जानकारी के अनुसार आईसीएआर द्वारा प्रत्येक वर्ष देश भर में टॉप-25 विवि व संस्थानों की सूची जारी की जाती है। यह सूची कुल 70 सरकारी व निजी संस्थानों की प्रोग्रेस रिपोर्ट के आधार पर तैयार की जाती है। हाल ही में आईसीएआर द्वारा देश के टॉप संस्थानों की सूची जारी की गई है। इस सूची में पहले स्थान पर नेशनल डायरी रिसर्च इंस्टीच्यूट करनाल है, जबकि हिमाचल प्रदेश से एकमात्र विवि चौधरी स्वर्ण कुमार कृषि विवि पालमपुर को 23वां स्थान मिला है। खास बात यह है कि एशिया की पहला फोरेस्ट्री एंड हार्टिकल्चर विवि नौणी इस सूची से बाहर हो गया है। वर्ष 2015 में नौणी विवि इस सूची में पांचवें स्थान पर था, जबकि वर्ष 2016 नौणी विवि की बेहतरीन प्रोग्रेस रिपोर्ट के आधार पर चौथा स्थान दिया गया था। हैरानी की बात है कि  कुछ ही वर्ष पहले स्थापित हुई शैरे कश्मीर यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर  साइंस एंड टेक्नोलॉजी 15वें स्थान पर रही है। नौणी विवि को इस सूची से बाहर किए जाने की कई वजह बताई जा रही हैं। बताया जा रहा है कि विवि को शोध कार्य व अन्य विकास कार्यों के लिए जो बजट आईसीएआर द्वारा दिया गया था, उसका सही समय पर प्रयोग नहीं हो पाया हो। विवि से समय-समय पर जाने वाली प्रोग्रेस रिपोर्ट से भी आईसीएआर संतुष्ट नहीं था, जिसके कारण टॉप-25 की सूची में स्थान नहीं मिला है। अब संस्थान की ग्रेटिंग में कट लग सकता है।

2015-16 में मिला 20 करोड़ का बजट

आईसीएआर से नौणी विवि को विकास कार्य व शोध कार्यों के लिए वर्ष 2015 व 2016 में 18 से 20 करोड़ रुपए का बजट मिला था। लंबे समय से यह बजट भी बंद कर दिया गया है। आईसीएआर से मिलने वाला बजट भी अब विवि को नहीं मिल रहा है। आईसीएआर की रैंकिंग से बाहर होने के बाद विवि को मिलने वाले बजट में भी भारी कटौती होने की संभावना जताई जा रही है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

 


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App