‘दिव्य हिमाचल’ रिलीफ फंड में 51 हजार दान

शिमला के तारादेवी निवासी रमेश ठाकुर ने प्रदेश के मीडिया ग्रुप की मुहिम में दिया योगदान

शिमला  – शिमला के तारादेवी में रहने वाले रमेश ठाकुर ने एक बार फिर से सामाजिक योगदान में अपनी भागेदारी देते हुए ‘दिव्य हिमाचल’ मीडिया ग्रुप के रिलीफ फंड में 51 हजार की राशि दान की है।  उन्होंने यह राशि  ‘दिव्य हिमाचल’ की ओर से सामाजिक उत्थान के लिए किए जा रहे कार्यों से प्रेरित हो कर अपना योगदान इन कार्यों में सुनिश्चित करने के उद्देश्य स्वरूप दान की है। यह पहली बार नहीं है कि रमेश ठाकुर ने सामाजिक कार्यों में इस तरह की पहल की हो, इससे पहले भी उन्होंने एक अलग  मिसाल पेश करते हुए प्रदेश के स्कूलों में पढ़ रहे छात्रों को देवभूमि का अर्थ समझने और हिमाचल की देव संस्कृति का ज्ञान देने के लिए एक लाख की पुस्तकें दान स्वरूप दी है। इन पुस्तकें को खरीदने के लिए राशि उन्होंने अपनी मारुति 800 कार को बेच कर जुटाई थी।  उनके इसी प्रेरणादायक कार्य के लिए दिव्य हिमाचल मीडिया ग्रुप की ओर  रमेश ठाकुर को  प्ररेणा पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।  रमेश ठाकुर का कहना है कि ‘दिव्य हिमाचल’ अग्रणी समाचार पत्र होने के साथ ही सद्ममाजिक दायित्वों में भी बेहतरीन कार्य कर रहा है। कैंसर पीडि़तों के साथ ही अन्य कई गंभीर बीमारियों से जुझ रहे गरीब और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए ‘दिव्य हिमाचल’ सबसे आगे मदद के लिए खड़ा रहा है। इसकी झलक उन्होंने  स्वंय उस कार्यक्रम में  देखी है जहां  इन्हे 14 अक्तूबर को प्ररेणा पुस्कार से सम्मानित किया गया। रमेश ठाकुर खुद भी देव संस्कृति से जुड़े हुए व्यक्ति है, ये शिमला तारादेवी स्थित प्रसिद्ध सृष्टि माता मंदिर के मुख्य पुजारी भी है और इन्होंने ही वर्ष 2000 में तारादेवी में प्रसिद्ध सृष्टि माता मंदिर का निर्माण कार्य शुरू किया था, जिसे वर्ष 2003 में पूरा कर लिया गया था। रमेश ठाकुर ने वर्ष 1980 में लोक निर्माण विभाग में बतौर फिटर पद पर सरकारी नौकरी करनी शुरू की थी, जिसके बाद वह इसी विभाग से ग्रेड-1 के तहत अप्रैल 2017 में सेवानिवृत्त हुए है। मंदिर के साथ जुड़े होने और हर तरह के वेद पुराण से संबंधित और अंक ज्योतिष के साथ ही देव कलाओं के साथ ही साधना का भी ज्ञान पुजारी रमेश ठाकुर रखते हैं। यही वजह है कि उन्होंने देव संस्कृति से प्रदेश के युवाओं को जोड़ने के लिए यह अनोखी पहल की है।

You might also like