पांवटा में पकड़ा फर्जी जज

जालंधर के दो भाइयों का कारनामा; एक जज, दूसरा बना ड्राइवर

पांवटा साहिब – पांवटा साहिब में पंजाब के जालंधर का रहने वाला एक फर्जी जज पकड़ा गया है। मामला रविवार रात तब का है, जब फर्जी जज व उसका चालक पांवटा पुलिस थाना में गनमैन की मांग कर रहे थे। पहचान पत्र न देने पर पुलिस को शक हुआ और गहन पूछताछ पर उन्होंने कबूल कर लिया कि वह जज नहीं हैं। जानकारी के मुताबिक रात करीब आठ बजे दो लोग पांवटा पुलिस थाने आए। वहां जज बने व्यक्ति जितेंद्र सिंह कांडा ने पुलिस से दो गनमैन की मांग कर कहा कि वह भंगानी साहिब गुरुद्वारे जाना चाहता है। इससे पहले अपने जुगाड़ से उन्होंने पांवटा के पीडब्ल्यूडी विश्राम गृह में रात्रि विश्राम के लिए कमरा बुक करवा लिया था। थाने में मौजूद पुलिस अधिकारियों ने उनसे कहा कि रात को कहां जाओगे, सुबह चले जाना, लेकिन वे नहीं माने। इस बीच पुलिस ने उनसे कहा कि यदि गनमैन चाहिए तो पहचान पत्र की प्रति औपचारिकता के लिए दे दीजिए, जिस पर जज बने व्यक्ति ने कहा कि वह पहचान पत्र घर पर ही भूल आया है। पुलिस ने कहा कि घर से व्हाट्सऐप पर मंगवा लिजिए, तो आरोपी कहने लगा कि उसके कमरे में ताला है। पुलिस का शक गहराने लगा। इस बीच एक पुलिस कर्मी ने अलाहबाद कोर्ट की वेबसाइट सर्च की, लेकिन इस नाम से कोई व्यक्ति उसमें नहीं था। उसके बाद पुलिस ने सख्ती से उनसे पूछताछ की, जिसके बाद उन्होंने सच उगल दिया और कहा कि वे दोनों भाई हैं और उनमें से कोई जज नहीं है। वह तो सिर्फ भंगानी में रिश्तेदारों पर रौब दिखाने के लिए ये सब कर रहे थे। डीएसपी प्रमोद चौहान ने बताया कि दोनों आरोपियों को हिरासत में लेकर मामला दर्ज कर लिया है। सोमवार को दोनों को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

You might also like