न्याय के लिए अब पांवटा सड़कों पर

पुरूवाला से लापता युवती का शव मिलने के बाद ग्रामीणों ने बंद किया अंबाला-देहरादून एनएच

पांवटा (नाहन) – पांवटा साहिब के पुरूवाला की लापता युवती का शव मिलने के बाद पुरूवाला में ग्रामीणों ने रविवार को जमकर प्रदर्शन किया। युवती की संदिग्ध मौत के बाद पुरूवाला के सैकड़ों ग्रामीणों ने रविवार को नेशनल हाई-वे अंबाला-देहरादून पर पुरूवाला के पास न केवल प्रदर्शन किया, बल्कि हाई-वे घंटों बंद रखा। रविवार दोपहर बाद ग्रामीणों ने आरोपी युवक के चाचा के घर पर पथराव भी किया। ग्रामीणों का आरोप है कि 11 नवंबर को पुरूवाला से लापता हुई युवती की न केवल हत्या हुई है, बल्कि उसके साथ दुष्कर्म भी हुआ है। भले ही अभी तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट आना बाकी है, जिससे न केवल युवती की मौत का पर्दाफाश होगा, बल्कि यह पता भी लगाया जाएगा कि क्या वास्तव में ही लापता युवती के साथ कोई जघन्य अपराध हुआ है। 11 नवंबर को पुरूवाला की 21 वर्षीय युवती अचानक लापता हो गई, जिसकी परिजनों ने न केवल गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज करवाई, बल्कि यह भी बताया कि युवती को गांव का एक युवक भगाकर ले गया है। परिजनों द्वारा नामजद करने के बावजूद युवक को हिरासत में नहीं लिया गया। बाद में लोगों का गुस्सा बढ़ता देख पुलिस ने एक स्थानीय युवक को हिरासत में लिया, लेकिन युवक ने हिरासत में लेने से पूर्व ही स्वयं को चाकुओं से गोद डाला, जिससे उसे अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा। बाद में आरोपी को हरियाणा के यमुनानगर स्थित एक अस्पताल में उपचार के लिए ले जाया गया। शव मिलने के बाद पुलिस ने यमुनानगर के उस अस्पताल की सुरक्षा बढ़ा दी है, जहां आरोपी युवक उपचाराधीन है, ताकि युवक फरार न हो जाए। मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर जब सर्च आपरेशन शुरू किया, तो शनिवार को लापता युवती का शव सतौन के समीप गहरी खाई में मिला। जब युवती लापता हुई थी उस दौरान उसके कथित प्रेमी व युवती की मोबाइल लोकेशन सतौन के आसपास ही पाई गई।

पुलिस के खिलाफ खूब लगे नारे

रविवार को ग्रामीणों ने एनएच अंबाला-देहरादून पर पुरूवाला में न केवल चक्का जाम किया, बल्कि पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस आरोपियों को बचा रही है। मौके की नजाकत को देखते हुए दोपहर बाद एसपी सिरमौर रोहित मालपानी स्वयं मौके पर पहुंचे। आश्वासन के बाद लोगों ने जाम खोला।

सीबीआई से करवाएं जांच

ग्रामीण मामले की सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। गौर हो कि शनिवार को जब युवती का शव पुलिस पोस्टमार्टम के लिए नाहन ले गई, तो उस दौरान भी रात करीब 11 बजे पुरूवाला में स्थिति तनावपूर्ण हो गई थी।

हत्या से पहले रेप का आरोप

परिजनों व ग्रामीणों का आरोप है कि इस प्रकरण में केवल एक युवक ही शामिल नहीं है। इसमें अन्य लोगों की संलिप्तता से भी इनकार नहीं किया जा सकता। ग्रामीणों का आरोप है कि युवती की हत्या करने से पूर्व उसके साथ दुष्कर्म किया गया है। दुष्कर्म के बाद लड़की को मारकर लाश जंगल में फेंक दी है।

You might also like