बिलासपुर अस्पताल से डायलिसिस की शुरुआत

बाकी बचे जिलों में भी जल्द होगा शुभारंभ, बीपीएल के लिए फ्री

बिलासपुर – बिलासपुर जिले में डायलिसिस सेंटर की सुविधा मिलना शुरू हो गई है। शनिवार को यहां डायलिसिस सेंटर में मरीजों का डायलिसिस होना शुरू हो गया है, जिसमें दिल्ली की एक निजी कंपनी डीसीडीसी द्वारा विशेषज्ञों को यहां तैनात करके मरीजों को अच्छी सुविधा दी जा रही है। इसमें खास बात यह है कि यह सुविधा अभी तक बिलासपुर अस्पताल में ही मिल रही है। हालांकि अभी प्रदेश के अन्य जिलों में इसकी सुविधा मिलना बाकी है, लेकिन डायलिसिस के विशेषज्ञ बताते हैं कि जल्द ही सूबे के अन्य जिलों में भी इसकी सुविधा मिलना शुरू हो जाएगी। बिलासपुर अस्पताल के एमएस राजेश आहलुवालिया ने बताया कि डायलिसिस सेंटर प्रदेश के छह जिलों में शुरू किए गए हैं, लेकिन ये सेंटर बनकर तो तैयार हो गए हैं, लेकिन तैयार नहीं हुए हैं, परंतु जल्द ही ये सेंटर भी शुरू किए जाएंगे और प्रदेश के छह जिलों को इसकी सुविधा मिलना शुरू हो जाएगी। ये सेंटर शिमला, मंडी, हमीरपुर, ऊना, चंबा और बिलासपुर में ही खोले गए हैं, जिसमें प्रथम स्थान पर इसकी सुविधा बिलासपुर अस्पताल में दी जा रही है। शनिवार को बिलासपुर अस्पताल में पहले दिन ही मंडी से पार्वती शर्मा का इलाज शुरू हो गया है, जिसमें डायलिसिस विशेषज्ञों द्वारा मरीजों को किडनी का इलाज किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि केंद्र स्वास्थ्य मंत्रालय से डायलिसिस सेंटरों की मंजूरी दी गई है, जिसमें प्रदेश के अन्य बचे पांच जिलों में भी इसकी सुविधा मिलना शुरू हो जाएगी। इन सेंटरों में विशेषज्ञ, आधुनिक मशीनें और दस बेड प्रावधान कंपनी द्वारा ही किया गया है, जिसमें वह खुद इन मशीनों के लिए विशेषज्ञ और किडनी विशेषज्ञ की तैनाती करेगी, जिसमें विशेषज्ञ आपातकालीन समय पर किडनी मरीजों की जांच करेगा और सुविधा अनुसार उन्हें डायलिसिस सेंटर में एडमिट कर उनका इलाज शुरू करेगा। इस निजी कपंनी ने डायलिसिस विशेषज्ञों की तैनाती की है। शनिवार को बिलासपुर में शुभारंभ पर डा. प्रमोद सक्सेना, डा. मोहम्मद अजरूदीन, डा. मोहम्मद नूर, डा. सतीश व अन्य स्टाफ मौके पर मौजूद थे।

1200 रुपए फीस में बाकी सुविधाएं भी

डायलिसिस सेंटर में बीपीएल परिवारों को इसकी निःशुल्क सुविधा मिलेगी। इस सुविधा में निःशुल्क दवाइयां दी जाएंगी। अन्य कैटेगरी के मरीजों को इसका डायलिसिस करवाने के लिए 1250 रुपए खर्च करने होंगे, जिससे उनको अन्य सभी सुविधाएं दी जाएंगी।

You might also like