मंडी का हॉट मिक्सिंग प्लांट सील

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के नियमों की अनदेखी पर होटल-कारखानों पर कार्रवाई

बिलासपुर— प्रदेश भर में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने नियमों की अनदेखी करने वाले हाटलों और फैक्टरियों पर चाबुक चलाना शुरू कर दिया है। इस दौरान बोर्ड के मानकों पर खरा न उतरने पर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने मंडी क्षेत्र का एक हॉट मिक्सिंग प्लांट सील किया है। इसके साथ ही बिलासपुर और मंडी क्षेत्र के कई होटलों में भी औचक निरीक्षण किया है। बोर्ड ने मंडी जिला के कुछ होटलों को कुछ महीने पहले नोटिस भी जारी किया था, परंतु होटल मालिकों द्वारा इस नोटिस की अनदेखी की गई, जिस पर बोर्ड ने मंडी क्षेत्र के कुछ होटलों के बिजली व पानी के कनेक्शन मौके पर काटे। खबर की पुष्टि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड पर्यावरण अभियंता डा. आरके नड्डा ने की है। उन्होंने बताया कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने मंडी जिला के प्रमुख शहरों व बिलासपुर में होटल व कुछ फैक्टरियों में दबिश देकर उनके कागज जांचे हैं, जिसमें कुछेक के दस्तावेज तो सही थे, लेकिन कुछ के दस्तावेजों में कमी पाई है। इसी के चलते एक हॉट मिक्सिंग प्लांट भी सील किया गया है। उन्होंने बताया कि मंडी और बिलासपुर क्षेत्र में जिस भी होटल ने सीवरेज प्लांट नहीं बनाए हैं या फिर सीवरेज लाइन से कनेक्ट नहीं है, उनके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। हालांकि अभी तक क्षेत्र में बहुत कम होटल पाए गए हैं, जिनके अपने सीवरेज प्लांट नहीं हैं।  बताया जा रहा है कि होटल चाहे एक कमरे का हो, चाहे पचास का, सभी का अपना सीवरेज सिस्टम होना जरूरी है, जो सीवरेज लाइन से कनेक्ट है, वह तो ठीक है या फिर जिन्होंने अपना खड्डा बनाकर प्लांट बना लिया है, वह भी ठीक है। अभी भी जो होटल खुले में ही गंदा पानी फेंक रहे हैं, उनके खिलाफ  प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड कार्रवाई करेगा।

मंडी-बिलासपुर डंपिंग साइट का दौरा

प्रदूषण बोर्ड के अधिकारी ने बताया कि उन्होंने हाल ही में मंडी क्षेत्र की डंपिंग साइट का दौरा किया है। हालांकि अभी तक वहां की व्यवस्था उचित पाई गई है। मंडी शहर की डंपिंग साइट का मामला अभी कोर्ट में है। लगातार मंडी और बिलासपुर क्षेत्र का दौरा किया जा रहा है।

You might also like