मेरा वोट मेरी सरकार

यह विकास की लहर है या बदलाव की बयार, चुनाव आयोग का कारनामा है या हिमाचल की जागरूकता। नतीजे 18 दिसंबर को हैं, मगर चुप रह कर 74 फीसदी मतदान करने वाले प्रदेश ने नेताओं की नींद उड़ा दी है।  मतदान के हर रंग को पेश कर रहे हैं…       सुनील शर्मा

हिमाचल में 74.64 फीसदी हुआ मतदान

सिरमौर में सर्वाधिक 81.5 फीसदी

हमीरपुर में सबसे कम 70.19 प्रतिशत

77.77 त्न महिलाओं ने किया मतदान

37574 सर्विस वोटर

11000  पुलिस कर्मी तैनात

1000 होमगार्ड्स उत्तराखंड से आए

हिमाचल के होमगार्ड 5 हजार

हिमाचल में 74.64 फीसदी मतदान हुआ है। सर्वाधिक मतदान सिरमौर जिला में 81.5 फीसदी और सबसे कम हमीरपुर जिला में 70.19 प्रतिशत रिकार्ड किया गया। यह वोटिंग प्रदेश में स्थापित किए गए 7525 पोलिंग बूथों में हुई। इनमें आदर्श पोलिंग बूथों की संख्या 231 थीं।

नौ नवंबर को हुए मतदान के तहत चंबा में 73.21 फीसदी, हमीरपुर में 70.19 प्रतिशत, शिमला में 72.68 फीसदी, सोलन में 77.44, मंडी में 75.21, कांगड़ा में 72.47 फीसदी, कुल्लू में 77.87 प्रतिशत, सिरमौर में 81.05 फीसदी, लाहुल-स्पीति में 73.40 प्रतिशत, ऊना में 76.45, बिलासपुर में 75.58 और किन्नौर में भी 75.09 प्रतिशत मतदान हुआ।

मतदान के लिए कुल 11283 बैलेट यूनिट्स का उपयोग किया गया। इसके अतिरिक्त 9089 कंट्रोल यूनिट्स और 11050 वीवीपैट यूनिट्स भी थीं, जिनमें मतदाता अपने द्वारा डाले गए वोट की झलक देख सकता था। प्रदेश में इस बार कुल मतदाताओं की संख्या 50 लाख 25 हजार थी। इसमें 25 लाख 31 हजार 321 पुरुष वोटर, जबकि 24 लाख 57 हजार 32 महिला मतदाता बताए गए। राज्य में कर्मचारियों की संख्या पौने तीन लाख है। हालांकि चुनाव आयोग द्वारा अलग से इस वर्ग का कोई उल्लेख नहीं है। यह कर्मचारी वर्ग महिला व पुरुष मतदाताओं में ही शामिल है। 37574 सर्विस वोटर थे, जिन्हें पुख्ता सुरक्षा प्रबंधों के बीच इलेक्ट्रॉनिकली वोटिंग का अधिकार दिया गया था। इस पूरे चुनाव को संपन्न करवाने के लिए हिमाचल पुलिस के 11000 पुलिस कर्मी तैनात किए गए, 1000 होमगार्ड्स उत्तराखंड से आए,्र जबकि हिमाचल से तैनात गृहरक्षकों की संख्या पांच हजार थी।

मतदान में भी महिलाएं इक्कीस

हिमाचल में वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव के मतदान में महिलाओं ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। महिलाओं की कुल मतदान प्रतिशतता 77.77 दर्ज की गई, जबकि पुरुषों की 71.53 प्रतिशत। महिलाओं ने रिकार्ड मतदान कर फिर दिखा दिया है कि वे अन्य फील्डों की तरह यहां भी इक्कीस हैं। वोट को अधिकार मानकर महिलाओं ने अपना कर्त्तव्य बाखूबी निभाया है।

पौने छह करोड़ की शराब पकड़ी

चुनावी प्रक्रिया के दौरान पुलिस ने प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से 5.77 करोड़ की शराब जब्त की और 81 किलो मादक पदार्थ, जिनकी कीमत 1.65 करोड़ आंकी गई। इसके अतिरिक्त 1.06करोड़ की नकदी पकड़ी गई।

जवाब दे गए ईवीएम-वीवीपैट 

मतदान के रोज ही तमाम दावों के बावजूद प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में 33 बैलेट यूनिट्स, 29 कंट्रोल यूनिट और 79 वीवीपैट मशीनें खराब पाई गईं, जिनके स्थान पर नई स्थापित की गईं।

2012 में  73.51 फीसदी मतदान

हिमाचल में मतदान की औसतन दर 65 फीसदी के लगभग रहती है, मगर वर्ष 2012 में यह 73.51 फीसदी दर्ज की गई।  जबकि इस बार यह 75 फीसदी आंकी गई है।

हॉट सीट्स में मतदान (प्रतिशत में)

अर्की  – 74.63

सुजानपुर – 74.07

जोगिंद्रनगर – 72.40

पालमपुर – 71.92

शिमला ग्रामीण – 73.05

शिमला शहरी – 63.76

दंग  – 78.75

नगरोटा-बगवां – 77.98

जयसिंहपुर – 63.91

हरोली – 78.96

धर्मशाला – 74.55

डोर-टू डोर संपर्क

जीएसटी, महंगाई व नोटबंदी का असर डालने व उसे दूर करने के लिए कांग्रेस-भाजपा ने चुनाव प्रचार के बाद भी डोर-टू-डोर प्रचार में कोई कसर नहीं छोड़ी। यहां तक कि मोबाइल फोन पर मैसेज व फोन कॉल्स भी की गई।

350 नुक्कड़ सभाएं

भाजपा के कई प्रत्याशियों के कटआउट उनके चुनाव क्षेत्रों में छाए रहे। भाजपा ने 350 से भी ज्यादा नुक्कड़ सभाएं की।

चुनावी दंगल में 337 प्रत्याशी

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए मैदान में उतरे 337 उम्मीदवारों में से 19 महिलाएं हैं। इस बार 112 निर्दलीय उम्मीदवार हैं। भाजपा और कांग्रेस सभी 68 सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं। बहुजन समाज पार्टी 42 सीटों पर, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) 14 सीटों पर, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) तीन, समाजवादी पार्टी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी दो-दो सीटों पर चुनाव लड़ रहीं हैं।  राज्य में 7,525 मतदान केंद्रों पर मत डाले गए। क्षेत्र के हिसाब से लाहुल एवं स्पीति सबसे बड़ा और मतदाताओं की संख्या के आधार पर सबसे छोटा निर्वाचन क्षेत्र है। धर्मशाला में अधिकतम 12 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं जबकि झंडूता में सबसे कम दो उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं।

टूटे पिछले रिकार्ड-नए भी बने

जिला      2012      2017

शिमला    69.32     72.68

किन्नौर    72.10     75.09

सिरमौर    79.93     81.5

हमीरपुर   68.04     70.19

चंबा       75.84     73.21

कांगड़ा    70.59     72.47

जिला      2012      2017

लाहुल-स्पीति75.68  73.40

कुल्लू      79.47     77.87

मंडी       76.08     75.21

ऊना       73.03     76.45

बिलासपुर 72.94     75.58

सोलन     77.39     77.44

भाजपा के लिए मोदी उतरे फील्ड में

हिमाचल विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए भारतीय जनता पार्टी के 40 स्टार प्रचारकों ने मैदान में जौहर दिखाया।  भाजपा के स्टार प्रचारकों की सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, अरुण जेटली, स्मृति ईरानी के साथ योगी आदित्यनाथ और  शिवराज सिंह चौहान शामिल रहे। इसके अलावा, नितिन गडकरी, रामलाल, जेपी नड्डा, थावर चंद गहलोत, स्मृति इरानी, उमा भारती, शिवराज सिंह चौहान, मनोहर लाल खट्टर, त्रिवेंद्र सिंह रावत, डा. निर्मल सिंह, सेवानिवृत्त जनरल वीके सिंह, विजय सांपला, मंगल पांडे, मनोज तिवारी, सतपाल महाराज, सतपाल सिंह सत्ती, प्रेम कुमार धूमल, शांता कुमार व अनुराग सिंह ठाकुर के नाम शामिल रहे।  वीरेंद्र कश्यप, रामस्वरूप शर्मा, संबित पात्रा, पवन राणा, चंद्र मोहन ठाकुर, राम सिंह, प्रवीण शर्मा, रश्विधर, गणेश दत्त, संदीपनी भारद्वाज, उत्तम चौधरी, सिकंदर कुमार, सूरत नेगी, मोहम्मद राजबलि, विशाल चौहान ने भी पार्टी के लिए प्रचार किया।

कांग्रेस के लिए राहुल गांधी ने संभाला मोर्चा

विधानसभा चुनावों में कांग्रेस से प्रचार के लिए हिमाचल में राहुल गांधी, सुशील कुमार शिंदे, अंबिका सोनी, वीरभद्र सिंह, आनंद शर्मा, कैप्टन अमरेंदर सिंह, सुखविंद्र सिंह सुक्खू, शीला दीक्षित, भूपिंद्र सिंह हुड्डा, हरीश रावत, कुमारी शैल्जा, भंवर जितेंद्र सिंह, सचिन पायलट, रणदीप एस सुरजेवाला, राज बब्बर, रंजीत रंजन, प्रमोद तिवारी, प्रताप सिंह बाजवा, सुनील जाखड़, मनीश तिवारी, नवजोत सिंह सिद्ध,  विजय इंद्र सिंगला, गौरव गगोई, सुष्मिता देव, गुलाम अहमद मीर, अशोक तंवर, जीएस बाली, कौल सिंह ठाकुर, कुलदीप शर्मा, प्रीतम सिंह, चरणजीत सिंह, मनजीत सिंह बादल, मदन लाल शर्मा, जयवीर शेरगिल, कैलाशो सैणी शामिल रहे।

सोशल मीडिया से चुनाव प्रचार

मौजूदा विधानसभा चुनावों के दौरान भाजपा ने सोशल मीडिया के जरिए आक्रामक प्रचार किया। पार्टी  प्रत्याशियों ने भी अलग से प्रचार किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा का भी अलग से प्रचार दिखता रहा। भाजपा में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रो. प्रेम कुमार धूमल, सतपाल सिंह सत्ती, इंदु गोस्वामी, बिलासपुर से सुभाष ठाकुर के साथ-साथ कांग्रेस से मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, उनके पुत्र विक्रमादित्य सिंह, कसुम्पटी से अनिरुद्ध सिंह, शिमला से हरभजन सिंह भज्जी, नूरपुर से अजय महाजन, नगरोटा से जीएस बाली, हरोली से मुकेश अग्निहोत्री व अन्यों ने भी सोशल मीडिया के जरिए प्रचार में कोई कसर नहीं छोड़ी।

93.13 फीसदी ने जमा करवाई बंदूकें

हिमाचल पुलिस के एडीजी अतुल वर्मा ने बताया कि प्रदेश में 87423 बंदूकें व पिस्टलें पंजीकृत हैं। इनमें से 93.13 फीसदी जमा करवाई गई। निरीक्षण के दौरान 81 किलोग्राम नार्कोटिक्स, जिसकी कीमत 1.65 करोड़,  3.44 हजार लीटर शराब, जिसकी कीमत 5.77 करोड़, 3 किलो सोना और 1.6 करोड़ की नकदी बरामद की गई।

* पहली बार विधानसभा चुनावों में अपने उम्मीदवार का चयन कर रही दीक्षा चाहती हैं कि उनका प्रतिनिधि ईमानदार हो। इससे कोई मतलब नहीं कि वह किस पार्टी का है। वह ईमानदारी से काम करे, बस इसी उम्मीद से उसने  वोट डाला है। अगर प्रत्याशी ईमानदार होगा तो क्षेत्र का अथाह विकास संभव है।

* पहली बार मतदान कर रही प्रिया का भी यही कहना था कि वह एक ईमानदार प्रतिनिधि अपने इलाके से चाहती हैं। ऐसा विधायक  हो जो ईमानदारी से क्षेत्र का विकास करे। लोगों की समस्याओं को हल करे। ऐसी आशा से उसने मतदान किया। अगर प्रतिनिधि ईमानदार होंगे तो सिस्टम में पारदर्शिता आएगी।

* रचना का कहना है कि उनके लिए पहली बार मतदान करने का यह मौका नहीं है, बल्कि एक बड़ी जिम्मेदारी भी है। मैं यह सोचकर मतदान कर रही हूं कि उनका प्रतिनिधि गरीब व मध्यम वर्गीय परिवारों के मसलों को अपनी सरकार के समक्ष उठाएगा, ताकि इन वर्गों के लिए अच्छी नीतियां बनें।

* नई वोटर नेहा का कहना है कि उनको अपने प्रतिनिधि से बड़ी उम्मीदें हैं। उन्होंने यह सोचकर मतदान किया है कि उनका प्रतिनिधि युवाओं के लिए रोजगार, शिक्षा को  बढ़ावा देने के लिए काम करे। हां, सबसे बड़ी बात यह है कि महिला सुरक्षा पर विशेष ध्यान दे, ताकि प्रदेश में बेटियां खुद को असुरक्षित न समझें।

* तेजल शर्मा कहती है कि उनको पहली बार मतदान करते हुए खुशी हो रही है क्योंकि अब उनकी भी अपने प्रतिनिधि को चुनने में सहभागिता हुई है। उसने यह सोचकर अपने उम्मीदवार को वोट दिया है कि वह युवाओं के रोजगार की ओर विशेष ध्यान देंगे। लड़कियों की सुरक्षा की दिशा में पहल करेंगे।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव-2017

5025941 वोटर हिमाचल में

4988367 आम मतदाता

37574 सेवारत मतदाता

2568761 पुरुष मतदाता

2457166 महिला वोटर

14 थर्ड जेंडर वोटर प्रदेश में

96145 वोटर सुलाह में (सबसे ज्यादा)

23231 वोटर लाहुल-स्पीति में (सबसे कम)

7525 मतदान केंद्र प्रदेश में

983 संवेदनशील

399 अतिसंवेदनशील

जिलाबार मतदाता

जिला      कुल वोटर आम वोटर     सेवारत

चंबा       353500   351966  1534

कांगड़ा    1195100 1183258  11842

ला.-स्पीति23231     22995    236

कुल्लू      291971   291442   529

मंडी       763001  756046  6955

हमीरपुर   380633   375439   5194

ऊना       394923   391338   3585

बिलासपुर 298822   296541   2281

सोलन     375765   373959   1806

सिरमौर    350938   349040  1898

शिमला    542667   541325   1342

किन्नौर    55390    55018    372

संवेदनशील—अतिसंवेदनशील बूथ

जिला      बूथ   संवेदनशील  अतिसंवेदनशील

कांगड़ा    1559      297       160

मंडी       1092      133        34

चंबा       601       97         23

कुल्लू      520       53         17

हमीरपुर   525        61         05

ला.-स्पीति93         12         00

You might also like