रात भर गड्ढे में पड़ा रहा युवक, मौत

घुमारवीं के भगेड़ के समीप दर्दनाक हादसा, पुलिस ने किया मामला दर्ज, बलद्वाडा के मठ नगरोटा के युवक के साथ हादसा

घुमारवीं — शिमला-धर्मशाला नेशनल हाई-वे-103 पर भगेड़ के समीप (बल्लू)दर्दनाक सड़क हादसे में स्कूटी सवार युवक की मौत हो गई। युवक की पहचान विशाल शर्मा (32) सपुत्र रमेश शर्मा बलद्धाड़ा तहसील के गांव मठ नगरोटा के तौर पर हुई। पुलिस ने युवक के शव को अपने कब्जे में लेकर उसका सिविल अस्पताल घुमारवीं में पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। बुधवार सुबह शिमला-धर्मशाला नेशनल हाईवे-103 पर भगेड़ के समीप स्कूटी पर सवार एक युवक गड्ढे में गिरा हुआ देखा, जिसकी सूचना लोगों ने थाना घुमारवीं पुलिस को दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लेकर छानबीन शुरू कर दी। पुलिस ने गड्ढे में गिरे युवक को सिविल अस्पताल पहुंचाया। जहां पर चिकित्सकों ने युवक को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने युवक का शव अपने कब्जे में लेकर उसका पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक जिला मंडी की तहसील बलद्धाड़ा के गांव मठ नगरोटा का 32 वर्षीय युवक विशाल शर्मा ने होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा कर रखा है। विशाल शर्मा कंडाघाट में किसी होटल में कार्यरत था। मंगलवार रात को विशाल स्कूटी नंबर एचपी-28, 9851 पर सवार होकर घर आ रहा था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक विशाल की करीब सवा नौ बजे घागस से घर पर बात की थी। लेकिन, बुधवार विशाल स्कूटी सहित भगेड़ के समीप शिमला-धर्मशाला एनएच-103 को डबललेन कार्य में पड़े एक गड्ढे में गिरा हुआ पड़ा मिला। बताया जा रहा है कि हादसा इतना जबरदस्त था कि स्कूटी सवार युवक ने जो हेलमेट पहन रखा था। वह भी टूट गया था। हादसे में स्कूटी सवार युवक के सिर व चेहरे पर गहरी चोटें आई थी। बुधवार सुबह लोगों ने जब युवक को गड्ढे में बेसुध होकर गिरा देखा, तो उन्होंने इसकी सूचना थाना घुमारवीं को दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लिया तथा युवक को सिविल अस्पताल पहुंचाया। जहां पर चिकित्सकों ने युवक को मृत घोषित कर दिया।  मृतक के परिजन ने बताया कि मृतक विशाल शर्मा गरीब परिवार से संबंध रखता है। विशाल ने होटल मैनेजमेंट का डिप्लोमा प्राप्त किया था तथा मंगलवार रात को वह घर वापस आ रहा था। उधर, डीएसपी राजेश कुमार ने मामले की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

लाड़ले की मौत पर नहीं हो रहा था विश्वास

बुधवार सुबह पुलिस ने युवक के परिजनों को हादसे की सूचना दी। इस दौरान जब युवक के परिजन भगेड़ के समीप घटनास्थल पर पहुंचे, तो परिजनों के पहुंचने के बाद युवक को गड्ढे से बाहर निकाला। परिजनों को  विश्वास नहीं हो रहा था कि उनका लाड़ला अब इस दुनिया में नहीं रहा है। उनको युवक के जिंदा होने का एहसास होने लगा। इस समय स्थिति बिलकुल अजीबो-गरीब हो गई। युवक को तत्काल गाड़ी में रखकर सिविल अस्पताल घुमारवीं पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उसकी जांच कर उसे मृत घोषित कर दिया, लेकिन, वहां पर भी परिजन लाड़ले की जान बचाने की फरियाद करते रहे।

You might also like