लाहुल से मनाली पहुंचे 100 वाहन

मौसम साफ होते ही लोगों ने आर-पार किया रोहतांग दर्रा

मनाली  – बर्फ  से लदे रोहतांग दर्रे में वाहनों की आवाजाही सुचारू हो गई है। रोहतांग दर्रे में मार्ग के जिस भाग में धूप नहीं लग रही, वहां बर्फ  व पानी जमने से जोखिम बरकरार है। बीआरओ ने रोहतांग दर्रे को तो बहाल कर दिया है, लेकिन सड़क को वन-वे के हिसाब से बहाल किया गया है। दोनों ओर सड़क में लगे बर्फ  के ढेरों को देखते हुए लाहुल-स्पीति प्रशासन ने केलांग-मनाली मार्ग को वन-वे कर दिया है।   शनिवार को केलांग की ओर से 100   वाहन दर्रा पार कर मनाली पहुंचे जबकि मनाली से भी 20 के लगभग वाहन दर्रा पार कर लाहुल पहुंचे। मनाली की ओर से राहलाफाल, ब्यासनाला, चुंबक मोड़ और राहनीनाला में, जबकि लाहुल की ओर  राक्षी ढांग, बाई पास में पानी व बर्फ जमने से राहगीरों की परेशानिया बढ़ी हुई हं। इन जगह में गाड़ी पार करती बार चालक सहित सवारियों के सांसें थम रही हैं। दूसरी ओर सुबह धूप खिलते ही बर्फ से ढके कुल्लू-मनाली के पहाड़ चांदी जैसे चमक उठे। मौसम सुहावना होने से लोगों को ठंड से राहत मिली है, लेकिन रात को पारा लुढ़कने से   ग्रामीणों की दिक्कते बढ़ गई हैं।   होटल एसोसिएशन नाली के अध्यक्ष गजेंद्र ठाकुर ने कहा कि इन दिनों मनाली में गुजरात के पर्यटक आते थे, लेकिन वहां विधानसभा चुनाव होने से पर्यटक न के बराबर आ रहे है। रेस्क्यू पोस्ट कोकसर के प्रभारी पवन ने बताया कि मौसम साफ  रहने से रोहतांग दर्रे में वाहनों की आवाजाही सामान्य रही। उन्होंने कहा कि कहीं-कहीं पानी व बर्फ  जमने से जोखिम बरकरार है लेकिन धूप लगने पर ही वाहनों को दर्रा आर-पार करवाया जा रहा है। केलांग एसडीएम कुलवीर राणा ने बताया कि  दोनों ओर से गाडि़यों को भेजा गया। लाहुल की ओर से वाहनों की संख्या अधिक रही जबकि मनाली से भी डेढ़ दर्जन वाहन मनाली से केलांग पहुंचे। उन्होंने बताया कि प्रशासन सतर्क है और हालात पर नजर रखे हुए है।

 

You might also like