वजीर राम सिंह पठानिया को मिले शहीद का दर्जा

बासा वजीरा में मनाई वीर शिरोमणि की पुण्यतिथि, श्रद्धांजलि देकर याद किए स्वतंत्रता सेनानी

नूरपुर —  प्रथम स्वतंत्रता संग्राम 1857 से भी दस वर्ष पहले अंग्रेजी साम्राज्य के विरुद्ध तलवार उठाने वाले क्रांति के नायक व महान स्वतंत्रता सेनानी वीर शिरोमणि वजीर राम सिंह पठानिया की 161वीं पुण्यतिथि शनिवार को वीर दिवस के रूप में उनके पैतृक गांव बासा वजीरा में मनाई गई। इस दौरान एयरपोर्ट अथारिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन एवं लेखक प्रो. एनके सिंह ने बतौर मुख्यातिथि के रूप में  शिरकत की। इस मौके पर मुख्यातिथि व अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने वजीर राम सिंह पठानिया के सुरक्षा कचव पर द्वीप प्रज्वलित कर श्रद्धासुमन अर्पित कर नमन किया। इस अवसर पर वजीरराम सिंह मेमोरियल कमेटी के अध्यक्ष राजेश्वर पठानिया ने मुख्यातिथि व गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया और क्रांति के नायक वजीर राम सिंह पठानिया के जीवन पर जानकारी देकर उनके बताए आदर्शों पर चलने का आह्वान किया। इस मौके पर मुख्यातिथि प्रो. एनके सिंह ने कहा कि वजीर राम सिंह पठानिया एक महान वीर योद्धा थे, जिन्होंने अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया। उन्होंने कहा कि इस महान वीर शिरोमणि वजीर राम सिंह पठानिया को शहीद का दर्जा दिलाने के लिए कार्य करेंगे। भारत सरकार उन्हें शहीद का दर्जा देकर उन्हें सम्मान दे, क्योंकि उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम से दस वर्ष पहले ही अंग्रेजों के खिलाफ आजादी को लेकर विद्रोह का झंडा फहराया था। उन्होंने कहा कि क्रांति के नायक वजीर राम सिंह पठानिया की जीवनी को शिक्षा के पाठयक्रम में शामिल किया जाना चाहिए। इससे पहले प्रदेश के पूर्व मंत्री केवल सिंह पठानिया ने उपस्थित लोगों को वजीर राम सिंह पठानिया के जीवन बारे विस्तार से जानकारी दी। वहीं श्री राजपूत सभा नूरपुर के चेयरमैन मनोज पठानिया की उपस्थिति में सभा की कार्यकारिणी के सदस्य राजिंद्र सम्बयाल द्वारा वजीर राम सिंह पठानिया  के जीवन पर लिखित एक पुस्तक का विमोचन मुख्यातिथि द्वारा किया गया। इस अवसर पर वजीर राम सिंह पठानिया मेमोरियल पब्लिक स्कूल गुरचाल के विद्यार्थियों ने देश भक्ति के सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। वजीर राम सिंह मेमोरियल कमेटी बासा वजीरा के अध्यक्ष राजेश्वर पठानिया ने मुख्यातिथि व अन्य गणमान्य लोगों को सम्मानित किया। इस मौके पर मार्केट कमेटी के चेयरमैन राजिंद्र पठानिया, विश्व हिंदू परिषद के जिला अध्यक्ष उदय पठानिया, वेद पठानिया, राजीव पठानिया, डा. संजीव गुलेरिया, धर्मवीर कपूर, दलजीत पठानिया व रमेश आदि मौजूद थे।

You might also like