शिक्षा विभाग 50% ऑनलाइन

जल्द पेपरलैस होगा सारा काम, 20 लाख रुपए होंगे खर्च

शिमला —  शिक्षा विभाग का सारा काम जल्द ऑनलाइन होगा। विभाग का 50 प्रतिशत कार्य ऑनलाइन हो चुका है। इस प्रक्रिया पर 20 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। डाटा ऑनलाइन होने के बाद शिक्षा विभाग प्रदेश में एक ऐसा सरकारी विभाग होगा, जिसकी सारी वर्किंग पेपरलैस होगी। जानकारी के अनुसार पहले विभाग पुराना डाटा ऑनलाइन वेबसाइट पर चढ़ा रहा है। शिक्षा विभाग ने 50 प्रतिशत पुराना डाटा वेबसाइट पर डाल भी दिया है। पुराना डाटा वेबसाइट पर चढ़ने के बाद रोजाना हर कालेज, स्कूल व किसी भी शिक्षण संस्थान से आने वाली हर जानकारी ऑनलाइन की जाएगी। शिक्षा विभाग के पेपरलैस होने से जहां कागजी कार्यों से कर्मचारियों को छुटकारा मिलेगा, वहीं शिक्षण संस्थान के किसी भी अधिकारी व कर्मचारी को शिक्षा विभाग भी आना नहीं पड़ेगा। शिक्षा विभाग को पेपरलैस करने की योजना अगर कामयाब हो जाती है, तो इससे विभाग से जुड़े हर कर्मचारी, अधिकारी को फायदा होगा। समय की बचत के साथ ही फाइल के गुम होने की शिकायतें भी दूर होगी। शिक्षण संस्थान भी शिक्षा विभाग की ओर से दिए गए दिशा-निर्देश भी ऑनलाइन देख सकते हैं।

ऑनलाइन देनी होगी प्रोग्रेस रिपोर्ट

शिक्षा विभाग के पेपरलैस होने के बाद स्कूल, कालेज व इसके अलावा हर शिक्षण संस्थान को प्रोग्रेस रिपोर्ट ऑनलाइन ही भेजनी होगी। विभाग कागजी काम पूरी तरह खत्म करने की तैयारी में है।

फाइलें खंगालने से भी छुटकारा

शिक्षा विभाग के निदेशक डा. बीएल बिंटा ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न संस्थानों को शिक्षा विभाग की ओर से अगर कोई जानकारी चाहिए होगी, तो फाइलों में ढूंढने की आवश्यकता नहीं होगी, बल्कि सारा डाटा वेबसाइट पर उपलब्ध होगा। इस प्रक्रिया पर 20 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। डाटा ऑनलाइन होने का एक फायदा यह भी है कि छात्र शिक्षा विभाग से जुड़ी हर अहम जानकारी भी ऑनलाइन देख सकते हैं।

You might also like